राम मंदिर के डिजाइन में हुआ बदलाव, 44 की बजाए अब टिकेगी 48 लेयर पर नींव

Deepakshi Sharma, Last updated: Sun, 12th Sep 2021, 1:39 PM IST
  • राम मंदिर के लिए जो नींव के डिजाइन में राफ्ट से संबंधित थोड़ा सा बदलाव किया गया है. मंदिर की नींव में अब 44 नहीं बल्कि 48 लेयर बनने वाली है. साथ ही पहले के मुकाबले अब राफ्ट की मोटाई तक कम है.
राम मंदिर के डिजाइन में होगा बदलाव

लखनऊ. राम मंदिर निर्माण के लिए नींव के डिजाइन में राफ्ट को लेकर थोड़ा-सा परिवर्तन किया गया है अब मंदिर की नींव में 44 की जगह 48 लेयर बनने वाली है. साथ ही राफ्ट की मोटाई तक कम होगी. पहले के डिजाइन की बात करें तो राफ्ट की मोटाई कम से कम ढाई मीटर थी, लेकिन अब वो डेढ़ मीटर हो जाएगी है.

इस बारे में जानकारी देते हुए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा ने बताया कि राम मंदिर को बनाने का काम काफी तेजी से हो रहा है. पहले नींव की डिजाइन के मुताबिक 44 लेयर का निर्माण होना था. अब उसमें लेकिन 4 लेयर को और बढ़ा दिया गया है. इस वक्त मंदिर की 42 लेयर बन चुकी है.

लखनऊ में बिजनेस शुरू करने का सुनहरा मौका, आय बढ़ाने के लिए कमर्शियल संपत्तियां बेचेगा LDA

दो दिन के भीतर एक लेयर का और निर्माण किया जा रहा है. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि लेयर का काम 20 सितंबर तक पूरा हो जाएगा. इसके बाद में फिर राफ्ट को बनाने का काम शुरू हो जाएगा. ये काम अक्टूबर तक पूरा होगा. मिर्जापुर के लाल बलुआ पत्थरों से अक्टूबर के अंत या फिर नंवबर के पहले सप्ताह में प्लिंथ का काम शुरू हो जाएगा.

इन सबके अलावा यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि रामनगरी को विश्वस्तरीय आध्यात्मिक मेगा सिटी बनाने के सिलसिले में भगवान राम के गुप्त होने वाले स्थान गुप्तारघाट को नया लुक दिया जाएगा. 22 करोड़ रुपये से बनने वाला है. इसके अंदर सबसे खास बात ये है कि यहां पंखमुखी महादेव मंदिर से एक नया लिंक रोड बनाया जाएगा. इतना ही नहीं घाट के पास दो जगहों पर पार्किंग एरिया बना जाएगा. अवैध दुकानों को तोड़कर नई दुकाने बनाई जाएगी. साथ ही एक रोजगार केंद्र खोलने की तैयारी है.

यूपी के मेरठ, आगरा और इन जिलों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा और अयोध्या विकास प्राधिकरण के वीसी विशाल सिंह ने सिंचाई, उद्यान, राजस्व, लोक निर्माण विभाग के साथ-साथ बाकी विभागों के बड़े अधिकारियों संग सभी चीजों का निरीक्षण किया और पूरे प्रोजेक्ट का अध्ययन तक किया. नया लिंक रोड़ पंचमुखी महादेव मंदिर से लेकर नए घाट तक जाएगा. इस वक्त जो सड़के बनी हुई है वो संकरी है. यहां पर इसी वजह से हर वक्त जमा लगा रहता है. इसके लिए नया लिंक मार्ग बनाया जाना वाला है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें