लखनऊ में फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तारी

Somya Sri, Last updated: Sat, 18th Sep 2021, 5:07 PM IST
  • लखनऊ पुलिस ने फर्जी सर्टिफिकेट बनाने वाले एक गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है. यह गिरोह राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड, नेशनल नर्सिंग मिडवाइफरी, केंद्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान, सहित जबलपुर स्थित महाकौशल आर्युर्वेदिक बोर्ड के नाम से फर्जी सर्टिफिकेट बनाते थे.
लखनऊ में फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तारी (प्रतिकात्मक फोटो)

लखनऊ: लखनऊ के चिनहट ब्लॉक में यूपी पुलिस ने फर्जी सर्टिफिकेट बनाने वाले एक गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है. यह गिरोह राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड, नेशनल नर्सिंग मिडवाइफरी, केंद्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान, सहित जबलपुर स्थित महाकौशल आर्युर्वेदिक बोर्ड के नाम से फर्जी सर्टिफिकेट बनाते थे. पुलिस ने बताया कि छापामारी के दौरान 180 के करीब जाली मार्कशीट बरामद किए गए हैं. पुलिस इस गिरोह में शामिल अन्य तीन आरोपियों की तलाश में जुटी है.

जानकारी के मुताबिक, यह गिरोह फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर लोगों को देता था और इसके एवज में मोटा पैसा वसूलता था. नकली बनायी गई सर्टिफिकेट में हाथ की सफाई इतनी थी कि यह देखने में हूबहू असली लगती हैं. इसे आसानी से पहचाना नहीं जा सकता है. पुलिस के मुताबिक, यह सर्टिफिकेट बनाने के प्रति व्यक्ति 25 हजार रुपये वसूलते थे.

सोनू सूद की बढ़ी मुश्किलें, आयकर विभाग ने 20 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी का किया दावा

जानकारी के मुताबिक पुलिस गुप्त सूचना के आधार पर गिरोह के ठिकाने पर धावा बोली और गिरोह के तीन सदस्यों को रंगे हाथ पकड़ ली. पुलिस ने वहां से 180 से अधिक फर्जी सर्टिफिकेट भी जब्त किए, जो अलग-अलग संस्थानों से संबंधित हैं. जानकारी के मुताबिक यह सर्टिफिकेट अलग-अलग जगहों पर नौकरी के आवेदन के लिए इस्तेमाल किए जा रहे थे.

बता दें कि उत्तरप्रदेश में आए दिन जालसाजी की घटनाएं सामने आती रहती हैं. कुछ महीने पहले ही पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ किया था, जो पैसे लेकर किसी भी कॉलेज-यूनिवर्सिटी का सर्टिफिकेट बनाया करता था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें