महाशिवरात्रि के अवसर पर लखनऊ के मंदिरों में होगा भव्य आयोजन, पर्व के लिए तैयारियां शुरू

Sumit Rajak, Last updated: Sat, 26th Feb 2022, 7:28 AM IST
  • 1 मार्च को महाशिवरात्रि के अवसर पर कला अनुराग्गी कला क्षेत्र के आदि प्रवर्तक शिव-पार्वती के प्रति शब्दों के रूप में भावांजलि अर्पित करेंगे. राजधानी के मंदिर भी बम भोले के जयकारे से गुंजायमान होंगे. देवादिदेव महादेव के पूजन के पर्व को लेकर राजधानी में तैयारियां पूरी हो गई है.
फाइल फोटो

लखनऊ. 1 मार्च को महाशिवरात्रि के अवसर पर कला अनुराग्गी कला क्षेत्र के आदि प्रवर्तक शिव-पार्वती के प्रति शब्दों के रूप में भावांजलि अर्पित करेंगे. राजधानी के मंदिर भी बम भोले के जयकारे से गुंजायमान होंगे. देवादिदेव महादेव के पूजन के पर्व को लेकर राजधानी में तैयारियां पूरी हो गई है. आने वाली पीढ़ियों को महादेव के प्रताप की जानकारी हो सके इसके लिए शुक्रवार को मनकामेश्वर मंदिर में हल्दी रस्म हुई, महंता देव्या गिरी के सानिध्य में शुरू हुआ आयोजन में श्रद्धांजलि भी शामिल हुए.

आलमनगर के हनुमान मंदिर में श्री बाबा अमरनाथ बर्फानी सेवा मंडल के अध्यक्ष सतीश बिंद्रा के संयोजन में कांवरियों की सेवा के लिए शिविर लगाया गया. शिविर में जहां उन्हें फलाहार कराया जाता है. स्नान व आराम की भी सुविधा है. श्री गौरी शंकर सेवा समिति की ओर आयोध्या रोड के नील गिरि कांप्लेक्स के सामने भी शिविर लगेगा. विजय अग्रवाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते छोटे स्तर पर आयोजन होगा. मानसरोवर व्यापार मंडल के उमेश चंद्र श्रीवास्तव के संयोजन में आलमबाग के नहर चौराहे के पास शिविर लगेगा.  अन्य मंदिरों में पर्व के लिए खास तैयारियां की गई हैं.

Russia Ukraine War: यूक्रेन में फंसे बिहारियों को भारत लाने का खर्च नीतीश सरकार उठाएगी

महाकाल मंदिर में ओम नमः शिवाय पाठ 

राजेंद्र नगर स्थित महाकाल मंदिर में महाशिवरात्रि पर  भोर में बाबा के अभिषेक के साथ महिलाएं 1 लाख एक हजार बार ओम नमः शिवाय पाठ करेंगी. महाशिवरात्रि को लेकर इंद्रेश्वर मंदिर, तुलसी मानस मंदिर के साथ नारायण पुरी स्थित शिव मंदिर, कुंनेश्वर मंदिर, बड़ा व छोटा शिवाला व संदोहन देवी मंदिर स्थित शिव मंदिर सहित शहर के अन्य मंदिरों में भी तैयारियां पूरी हो गई है. सदर के द्वादश ज्योतिर्लिंग मंदिर समिति के अध्यक्ष राजेश अग्रवाल ने बताया कि 21 परिवार रुद्राभिषेक करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें