यूपी: नए सुरक्षा बल UPSSF का होगा गठन, बिना वारंट तलाशी-गिरफ्तारी का होगा अधिकार

Smart News Team, Last updated: 16/09/2020 11:26 AM IST
  • उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार एक नए सुरक्षा बल का गठन करने जा रही है. इस बल को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी. इसके बाद यह पूरे राज्य में तैनात होगी. इस बल के पास विशेष परिस्थितियों में बिना वारंट तलाशी और गिरफ्तारी का अधिकार भी होगा.
राज्य सरकार उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल का गठन करेगी.

लखनऊ. राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल (यूपीएसएसएफ) के गठन की अधिसूचना जारी की गई है. एडीजी स्तर के आईपीएस को सुरक्षा बल का मुखिया नियुक्त किया जाएगा. यह बल विशेष परिस्थितियों में आरोपियों की बिना वारंटी के तलाशी और गिरफ्तारी भी कर सकता है. सरकार ने डीजीपी से इसके गठन के लिए रोडमैप तैयार करने को कहा है.

प्रदेश सरकार ने अधिसूचना में सुरक्षा बल के कार्यों अधिकार क्षेत्र और संगठनात्मक ढांचे को निर्धारित कर दिया है. इस विशेष सुरक्षा बल में एडीजी के अलावा आईजी, डीआईजी, कमांडेंट, उप कमांडेंट और अन्य अधीनस्थ अधिकारी भी शामिल होंगे. इसका मुख्यालय राजधानी लखनऊ में होगा.

अयोध्या मस्जिद को नहीं बनवा सकेंगे सभी मुसलमान, बस हलाल की कमाई का होगा इस्तेमाल

प्रारंभ में इस सुरक्षा बल में पीएसी से बल की 5 बटालियनों का गठन किया जाएगा. लेकिन इसमें सीधी भर्ती का अधिकार उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती और प्रोन्नति बोर्ड को दिया गया है. गृह विभाग के मुताबिक प्रारंभ में इस बल में 1919 जवान होंगे. इस पर एक वर्ष में 1747 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

CM योगी का आदेश- कोरोना कंटेनमेंट जोन में बढ़ाई जाए सख्ती, फिर तैनात हो पुलिस

गौरतलब है कि यूपीएसएसएफ के जवानों की स्पेशल ट्रेनिंग कराई जाएगी. ट्रेनिंग के बाद इन जवानों को राज्य के मेट्रो स्टेशनों, एयरपोर्ट, औद्योगिक संस्थानों, बैंकों, वित्तीय संस्थानों, महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, ऐतिहासिक, धार्मिक तीर्थ स्थलों, अन्य संस्थानों और जिला न्यायालय आदि की सुरक्षा में तैनात किया जाएगा. इसके अलावा निजी औद्योगिक प्रतिष्ठान भी एक निर्धारित शुल्क जमा कर इस बल की सुरक्षा पा सकेंगे. इस बल के पास विशेष परिस्थितियों में बिना वारंट के गिरफ्तारी करने का अधिकार होगा. बल का कोई सदस्य विशेष परिस्थितियों में किसी मजिस्ट्रेट के आदेश और बिना किसी वारंट के ऐसे किसी संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर सकता है. सुरक्षा बल के सदस्य हमेशा ड्यूटी पर माने जाएंगे. बल के सदस्य प्रदेश के अंदर किसी भी स्थान पर किसी भी समय तैनात किए जाने के योग्य होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें