मदरसों में 1 सिंतबर से रेगुलर पढ़ाई शुरू, कक्षा 1 से पांचवीं के बच्चों की लगेगी क्लास

Deepakshi Sharma, Last updated: Mon, 30th Aug 2021, 6:49 AM IST
  • उत्तर प्रदेश में स्कूलों के बाद अब मदरसों में भी रेगुलर फिजिकल तौर पर पढ़ाई शुरू होने जा रही है. 1 सिंतबर से कक्षा 1 से पांचवी के स्टूडेंट्स की भौतिक रूप से पढ़ाई शुरू हो जाएगी. यूपी के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंदर गोपाल गुप्ता नंदी ने इस बात की जानकारी दी है.
कोरोना के कम होते कहर के बीच 1 सितंबर से मदरसों में भी शुरू होगी पढ़ाई (फाइल फोटो)

लखनऊ. कोरोना की दूसरी लहर के थमने के बाद उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से बच्चों की रेगुलर पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए स्कूल खोले गए. स्कूलों के बाद अब मदरसों में भी रेगुलर पढ़ाई शुरू होने जा रही है. 1 सिंतबर से कक्षा 1 से लेकर 5वीं तक के स्टूडेंट्स की पढ़ाई मदरसों में शुरू हो जाएगी. उत्तर प्रदेश में जितने भी मान्यता प्राप्त और अनुदानित मदरसे हैं उनके लिए राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंदर गोपाल गुप्ता नंदी ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं. साथ ही कहा कि मदरसों में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पठन-पाठन का भौतिक कार्य किया जाए.

इस संदर्भ में राज्य अल्पसंख्यक मंत्री ने बताया कि बेसिक शिक्षा के परिषदीय स्कूलों, मान्यता प्राप्त स्कूलों और बाकी बोर्ड के जरिए चलने वाले स्कूलों में क्लास 6 से 8 तक बच्चों के लिए शिक्षा कार्य 23 अगस्त से शुरू हो चुका है. वहीं, इसके अलावा 1 से 5वीं कक्षा तक के बच्चों के लिए शिक्षा कार्य 1 सितंबर से ही शुरू किए जाने का निर्णय लिया गया है. 

किसान आंदोलन: हरयाणा के करनाल में 30 अगस्त को जुटेंगे लाखों किसान, यूपी में अलर्ट

इसके साथ ही राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंदर गोपाल गुप्ता नंदी ने अपनी बात रखते हुए बताया कि बेसिक शिक्षा विभाग की तरह ही यूपी मदरसा शिक्षा परिषद से मान्यता या फिर सहायता प्राप्त मदरसों में भी 6 से 8वीं क्लास के बच्चों के लिए शिक्षा का काम 23 अगस्त से शुरु हो चुका है. साथ ही 1 सितंबर से क्लास एक से लेकर पांचवीं तक के बच्चों की पढ़ाई भौतिक तौर पर शुरू हो जाएगी. वैसे जैसे-जैसे कोरोना का कहर कम हो रहा है लोगों को काफी राहत हासिल हो रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें