UP में एक समान योग्यता पदों के लिए एक भर्ती परीक्षा, आयोग का CM को प्रस्ताव

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 09:33 AM IST
  • उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने एक समान एक योग्यता वाले पदों पर एक भर्ती परीक्षा की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है. आयोग के अनुसार इससे भर्ती प्रक्रिया में होने वाली देरी से बचा जा सकता है. 
यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग एक समान एक योग्यता पदों के लिए एक परीक्षा पर विचार कर रहा.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अब एक समान एक योग्यता वाले पदों पर एक ही भर्ती परीक्षा कराने की योजना पर काम कर रहा है. सीएम योगी आदित्यानाथ के सामने इस मामले पर विचार-विमर्श हो चुका है. चयन आयोग के अनुसार इस तरह से भर्ती परीक्षा आयोजित कराने से प्रक्रिया को जल्द पूरा किया जा सकता है और भर्ती प्रक्रिया की कमियों को भी दूर किया जा सकता है. साथ ही युवाओं को विकल्प के अधिक मौके भी मिलेंगे.

सीएम योगी के निर्देश पर सेवा चयन आयोग ने भर्ती परीक्षाओं के लिए तैयारी शुरू कर दी हैं. इसके बाद एक ही पद के एक योग्यता वाले पदों के लिए एक परीक्षा आयोजित की जाएंगी. आयोग में पदवार और योग्यतावार विज्ञापन निकालने के विकल्पों पर भी विचार किया जा रहा है. 

कोरोना काल: लखनऊ में 19 अक्टूबर से खुलेंगे नौंवी से 12वीं तक स्कूल

उदाहरण के तौर पर स्नातक योग्यता और इंटर योग्यता वालों के लिए अलग-अलग विज्ञापन निकाले जाने पर विचार किया जा रहा है. आयोग के अनुसार इससे युवाओं को आवेदन करने में आसानी होगी और स्नातक वाले इस वर्ग में और इंटर वाले अपने वर्ग में आवेदन कर सकेंगे. 

CM योगी के आदेश पर 31161 शिक्षक भर्ती की सूची जारी, 16 अक्टूबर को नियुक्ति पत्र

आयोग के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने मुख्यमंत्री के सामने एक या दो परिणाम के आधार पर विभिन्न विभागों की मुख्य परीक्षा को एक कराने का प्रस्ताव रखा है. आयोग ने बताया कि 35019 पदों पर भर्ती के प्रस्ताव पास हुए हैं जिनके विज्ञापन जल्द निकालकर भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें