रोडवेज बसों में इलेक्ट्रॉनिक मशीन से मिलेगा टिकट, जानें- कब से कर सकेंगे कैशलेस सफर

Sumit Rajak, Last updated: Sat, 12th Feb 2022, 6:19 AM IST
  • यूपी में नई ई-टिकटिंग प्रणाली के माध्यम से यात्री 22 फरवरी से बस में कैशलेस सफर कर सकेंगे. नगद किराए के साथ ही पेटीएम, गूगल-पे, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड सहित विभिन्न मोड से यात्री बस कंडक्टर से अपने सफर के लिए टिकट प्राप्त कर सकेंगे. इससे यात्री और कंडक्टर के बीच किराये के फुटकर पैसों को लेकर आए दिन होने वाले झंझट पर विराम लगेगा.
फाइल फोटो

लखनऊ. यूपी में नई ई-टिकटिंग प्रणाली के माध्यम से यात्री 22 फरवरी से बस में कैशलेस सफर कर सकेंगे. नगद किराए के साथ ही पेटीएम, गूगल-पे, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड सहित विभिन्न मोड से यात्री बस कंडक्टर से अपने सफर के लिए टिकट प्राप्त कर सकेंगे. इससे यात्री और कंडक्टर के बीच किराये के फुटकर पैसों को लेकर आए दिन होने वाले झंझट पर विराम लगेगा. साथ ही कैशलेस ट्रांजेक्शन की ओर परिवहन निगम अपने कदम बढ़ाएगा.

बता दें कि परिवहन निगम नई बस टिकटिंग प्रणाली लेकर आ रहा है. नई सेवा प्रदाता संस्था के साथ बीते 23 नवंबर को हुए अनुबंध के तहत टिकटिंग का पायलेट प्रोजेक्ट लखनऊ और गाजियाबाद क्षेत्रों में 22 फरवरी से एक साथ लागू किया जाएगा. इसके लिए 2200 एंड्रोएड मशीन आ गई हैं. परिवहन निगम द्वारा इसके लिए भारत सरकार द्वारा अपेक्षित कैशलेस ट्रांजेक्शन के लिए नवीन और आधुनिक व्यवस्था को लागू किया जा रहा है.

CAA Protest: सुप्रीम कोर्ट की फटकार, यूपी सरकार वसूली नोटिस वापस ले, नहीं तो रद्द कर देंगे

प्रबंध निदेशक आरपी सिंह, अपर प्रबंध निदेशक सरनीत कौर ब्रोका ने टिहरी कोठी स्थित परिवहन निगम मुख्यालय में शुक्रवार को टिकटिंग मशीनों का निरीक्षण किया. तकनीकी बारीकियां समझीं. इन मशीनों को लखनऊ और गाजियाबाद क्षेत्रों में भेजा गया. आगामी सप्ताह में इन मशीनों की टेस्टिंग का काम पूरा करके बस कंडक्टरों को मशीनें उपलब्ध करा दी जाएंगी.

ये सुविधाएं जल्द मिलेंगी

.वन नेशन वन कार्ड के तहत स्मार्ट कार्ड जारी होगा.

.मोबाइल एप द्वारा बस टिकटिंग की सुविधा मिलेगी.

.मोबाइल रिजर्वेशन एप से समय सारणी देख सकेंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें