लेखक, कवि और व्यंगकारों को मिला उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान 2020, देखें लिस्ट

Smart News Team, Last updated: Sat, 19th Jun 2021, 7:53 PM IST
  • लेखकों, कवियों, व्यंगकारों को शनिवार को उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान और शब्द शिल्पी सम्मान 2020 दिया गया. वहीं इसे वर्चुअल तरिके से 11 हजार रुपए पुरस्कार राशि दी गई.
लेखक, कवि और व्यंगकारों को मिला उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान 2020, देखें लिस्ट

लखनऊ. उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान द्वारा शनिवार को यूपी भाषा सम्मान 2020 कवियों, व्यंग्यकारों, लेखकों समेत अन्य लोगों को दिया गया. यह सम्मान उन्हें उत्तर प्रदेश एवं भाषा के क्षेत्र में साहित्यिक-विनिमय, सौहार्द, समृद्धि, और समन्वय को मजबूत करने के लिए दिया गया है. वहीं इस संस्थान को 1994 में भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देने के लिए स्थापित किया गया था. यह एक सरकारी संस्थान है जो हर साल भारतीय भाषाओं में बेहतरीन काम कर के वालों को दिया जाता है.

इस बार उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान-2020 को लखनऊ के पंकज प्रसून, सन्त कबीर नगर के डॉ अमित कुमार भारती, कानपुर के अमित कुमार मल्ल,  फिरोजाबाद के डा मुरारी लाल अग्रवाल और प्रयागराज के डॉ उन्नत बहादुर सिंह को दिया गया है. इन सभी भारतीय भाषा में बेहतरीन काम और इनकी रचनाओं को देखते हुए उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान-2020 की उपाधि दी गई है. जिसमे इन्हे वर्चुअल तरिके से  11 हजार की पुरस्कार राशि दी गई गई.

अंबिका चौधरी ने छोड़ी BSP, सपा ने बेटे को बनाया जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी

इसके साथ ही शब्द शिल्पी सम्मान-2020 भी आज बनते गए. जिसमें लखनऊ के डॉ अलका पांडेय, मुरादाबाद के डॉ मुकेश चंद गुप्ता, प्रयागराज के डॉ बृजेश कुमार पांडेय, बनारस के डॉ सत्य प्रकाश पाल, लखनऊ के डॉ गोविंद स्वरूप गुप्ता, गाजियाबाद के डॉ वीणा शर्मा, एटा के डॉ सतीश चतुर्वेदी' शाकुन्तल, गाजियाबाद की डॉ गीता पांडे, दिल्ली के डॉ एच एल विश्वकर्मा और महाराष्ट्र की गीता टण्डन को यह पुरस्कार दिया गया है. इस पुरस्कार सभी ऑनलाइन माध्यम से 11 हजार की पुरस्कार राशि भेंट की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें