नई आबकारी नीति को योगी कैबिनेट की मंजूरी, शराब के शौकीनों की जेब पर पड़ेगा असर

Smart News Team, Last updated: Sun, 10th Jan 2021, 7:17 AM IST
  • यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने नई आबकारी नीति को मंजूरी दे दी है. 1 अप्रैल, 2021 से राज्य में अंग्रेजी शराब करीब पांच रूपये महंगी हो जाएगी. जबकि, देशी शराब और बीयर की कीमतों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गई है.
योगी सरकार ने आईपीएस और एएसपी अधिकारियो का तबादला. ( फाइल फोटो )

लखनऊ. यूपी की योगी सरकार कैबिनेट ने नई आबकारी नीति को मंजूरी दे दी है. सरकार ने वर्ष 2021-22 के लिए आबकारी नीति को मंजूरी दी है. अब 1 अप्रैल, 2021 से राज्य में अंग्रेजी शराब महंगी हो जाएगी. मिली जानकारी के अनुसार अंग्रेजी शराब के क्वार्टर पर करीब पांच रूपये का इजाफा होगा. हालांकि, देशी शराब की कीमतों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गई है. साथ ही बीयर के अधिकतम विक्रय मूल्य में भी कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है.

राज्य सरकार ने तय किया है कि देशी शराब को टेट्रा पैक (मोटे कागज की पैकिंग) में भी बेचा जाएगा. टेट्रा पैक में देसी शराब का पउवा 85 रूपये में शराब पीने वाले खरीद सकेंगे. अब हवाई अड्डों पर खुलने वाले प्रीमियम रिटेल स्टोर पर भी अंग्रेजी शराब और बीयर के महंगे ब्राण्ड मिलेंगे. साथ ही यहां पर देश में बनी शराब की भी बिक्री होगी.

यूपी में मनरेगा मजदूरों को ज्यादा काम देने की तैयारी में योगी सरकार

यूपी सरकार की वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए घोषित नई आबकारी नीति के तहत देसी व अंग्रेजी शराब की लाइसेंस फीस में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की जाएगी. जबकि, बीयर की फुटकर दुकानों के लिए प्रदेश सरकार ने लाइसेंस फीस में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की है.

राजभर और चंद्रशेखर की लखनऊ में मुलाकात, गठबंधन में यूपी चुनाव 2022 लड़ने पर चर्चा

प्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति के तहत अब 16 बोतल से अधिक शराब या बीयर अपने पास रखने के लिए प्रदेश सरकार से व्यक्तिगत होम लाइसेंस लेना होगा. इन्हें हर साल 12,000 रूपये की लाइसेंस फीस और प्रतिभूति धनराशि 51,000 जमा करनी होगी. प्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति 1 अप्रैल, 2021 से लागू होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें