योगी सरकार का दावा- ऑक्सीजन की कमी नहीं, UP जितनी किसी राज्य में नहीं दी गई

Smart News Team, Last updated: Thu, 13th May 2021, 9:10 PM IST
  • उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने दावा किया है कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है. मुख्य सतिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि जितनी ऑक्सीजन यूपी को दी गई है उतनी देश के किसी राज्य को नहीं दी गई है.
योगी सरकार का दावा है कि यूपी में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ऑक्सीजन को लेकर बड़ा दावा किया है. योगी सरकार ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश में जितनी ऑक्सीन दी गई है उतनी देश के किसी अन्य राज्य को नहीं दी गई है. सरकार के मुख्य सचिव अवनीश ने कहा है कि प्रदेश के किसी जिले में ऑक्सीन की कोई कमी नहीं है. जिस जिले को जितनी ऑक्सीन की जरूरत है उसे उतनी पहुंचाई गई है. उत्तर प्रदेश ऑक्सीजन की सप्लाई 1000 मीट्रिक प्रतिदिन बढ़ा दी गई है.

मथुरा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऑक्सीजन को लेकर उठ रहे सवालों और आरोपों का जवाब दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना की पहली लहर में संक्रमण इतनी तेजी से नहीं फैल रहा था. उस समय ऑक्सीजन की व्यवस्था भी ज्यादा नहीं थी. कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मांग तेजी से बढ़ी है. ऑक्सीजन पहुंचाने में वायुसेना और रेलवे ने काफी मदद की है. जिसके चलते प्रदेश में आक्सीजन की कमी को काफी हद तक पूरा कर लिया गया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि यूपी में 377 नए ऑक्सीन प्लांट लगाए जा रहे हैं. इनमें से कुछ लग चुके हैं. अस्पतालों में बेडों की क्षमता बढ़ाई जा रही है. बता दें कि विपक्ष लगातार इस बात पर हमलावर है कि पहली लहर के बाद सरकार ने लापरवाही बरती और ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं की. इससे लोगों की तड़प-तड़प कर मौत हो गई.

नदी में शव मिलने के मामले पर UP स्वास्थ्य मंत्री ने दिए DM को जांच के आदेश

सीएम योगी ने बताया कि यूपी मे 12 दिन में 1 लाख 6 हजार एक्टिव केस कम हुए हैं. इस समय प्रदेश में 2 लाख 4 हजार एक्टिव केस हैं. प्रदेश में 4 करोड़ 36 लाख टेस्ट हो चुके हैं. हर रोज ढाई लाख लोगों का टेस्ट किया जा रहा है. मार्च तक सिर्फ सवा लाख लोगों का 1 दिन में टेस्ट होता था. यूपी में कोरोना के नए मामलों में लगातार कमी आ रही है.

लखनऊ: मशहूर शायर उमर फारूकी का कोरोना से निधन, DRDO अस्पताल में थे भर्ती

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें