यूपी में हाउस टैक्स देने वालों को मिली राहत, न मिलेगा नोटिस, न सीज होंगे खाते

Smart News Team, Last updated: Wed, 2nd Jun 2021, 5:34 PM IST
  • कोरोना के संकट काल के दौरान कई लोगों की हालत काफी ज्यादा खराब हो गई है. किसी तरह के भी प्रतिष्ठान और संस्थान नहीं खुल रहे हैं. इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए उच्च स्तर पर बड़े बकाएदारों को राहत देने की तैयारियां की जा रही हैं.
यूपी में हाउस टैक्स देने वालों को मिली राहत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के शुरू हुए इस संकट के समय में हाउस टैक्स के बड़े बकायेदारों को नोटिस न दिए जाने और न ही उनके खाते सीज किए जाने का फैसला लिया है. इससे हाउस टैक्स के बड़े बकाएदारों को काफी राहत मिली है. निकाय अधिकारियों की सहमति के आधार पर सभी बकाएदारों से इस दौरान हाउस टैक्स जमा कराया जाएगा. कोरोना काल खत्म होने पर जब हालत सामान्य हो जाएंगे, उसके बाद लापरवाही बरतने वाले बकायादारों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. निदेशालय स्तर पर की गई उच्चाधिकारियों की बैठक में इस बात पर सहमति बन गई है. जल्द ही इस संबंध में निकायों को निर्देश दे दिया जाएगा.

देश भर में कोरोना संक्रमण के चलते लाखो-करोड़ों लोगों का काम-धंधा बुरी तरह से चौपट हो गया है. हर वित्तीय वर्ष के खत्म होने से पहले निकाय द्वारा हाउस टैक्स के बड़े बकाएदारों से टैक्स वसूली करने के लिए एक अभियान चलाया जाता है. शहरों में हाउस टैक्स देने वाले बड़े बकाएदारों की सूची तैयार कर उन्हें नोटिस भेज कर टैक्स वसूली की जाती है. टैक्स वसूली के दौरान बकाएदारों के खाते सीज कर दिए जाते हैं. कोरोना के संकट काल के दौरान कई लोगों की हालत काफी ज्यादा खराब हो गई है. किसी तरह के भी प्रतिष्ठान और संस्थान नहीं खुल रहे हैं. इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए उच्च स्तर पर बड़े बकाएदारों को राहत देने की तैयारियां की जा रही हैं.

एयर एम्बुलेंस से लेकर चार्टर तक महंगा हुआ हवाई सफर, जानें क्या होगा नया किराया

उच्चाधिकारियों द्वारा की गई बैठक में यह सहमति बनी है कि फिलहाल टैक्स वसूली के लिए सख्त कार्रवाई नहीं की जाएगी. हालांकि इस दौरान अपनी इच्छा से टैक्स जमा करने वालों का स्वागत किया जाएगा. देश में स्थिति के सामान्य होने पर बकाए की वसूली का अभियान शुरू किया जाए और सख्त कार्रवाई की जाएगी. अभी फिलहाल निकाय के ज्यादातर कर्मचारी और अधिकारी कोरोना संक्रमण से जुड़े अभियानों और कामों में लगे हुए हैं. उच्च स्तर द्वारा लिए गए इस फैसले से उनको भी काफी राहत मिलेगी.

गोंडा में सिलेंडर फटने से दो मकान ढहे, 8 की मौत, सीएम योगी ने जताया शोक

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें