मां-बाप को परेशान करके संपत्ति लेने वालों पर कार्रवाई, UP सरकार उठाएगी बड़ा कदम

Smart News Team, Last updated: Wed, 9th Dec 2020, 8:21 PM IST
  • योगी सरकार के माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली में संशोधन की मंजूरी अगली कैबिनेट मीटिंग में मिल सकती है. योगी सरकार इसे लेकर कुछ अहम बदलाव करने की तैयारी कर रही है. सूत्रों की तरफ से सूचना मिली है कि इस नियमावली प्रस्ताव भी सरकार तक पहुंच चुका है.
माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली में संशोधन की मंजूरी मिल सकती है.(फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली में संशोधन की मंजूरी अगली कैबिनेट मीटिंग में मिल सकती है. योगी सरकार इसे लेकर कुछ अहम बदलाव करने की तैयारी कर रही है. सूत्रों की तरफ से सूचना मिली है कि इस नियमावली प्रस्ताव भी सरकार तक पहुंच चुका है. लेकिन सरकार की ओर से किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं दी है. वर्ष 2014 में ये नियमावली पहली बार बनाई गई थी जिसके बाद से इसे गंभीरता से नहीं लिया गया. 

जानकारी मिल रही है कि योगी सरकार इस संशोधन में बेदखली भी जोड़ सकती है. साथ ही प्रस्तावित संशोधन में बुजुर्ग माता पिता के बच्चों के साथ रिश्तेदारों को भी रखा गया है. इस संशोधन में प्रावधान किया जा सकता है कि बेटा और रिश्तेदार बुजुर्ग माता- पिता को परेशान करता है तो पीड़ित के पास ये हक होगा कि एसडीएम या प्रधिकरण में केस कर सकते हैं. साथ ही मां-बाप कार्रवाई करते हुए अपने बेटे को संपत्ति से बेदखल कर सकते हैं.

लखनऊ में सड़क किनारे लटका मिला युवक का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

आपको बता दें कि वर्ष 2014 में यूपी सरकार ने में माता-पिता तथा वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण एवं कल्याण नियमावली बनी थी. इस नियमावली के बनने के बावजूद भी सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बुजुर्ग माता-पिता एवं वरिष्ठ नागरिकों की सम्पति के संरक्षण के लिए कोई भी विस्तृत कार्य योजना नहीं बनाई गई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें