योगी सरकार बोली- चुनाव में शिक्षकों की मौत की संख्या बढ़ाकर बता रहे संघ

Smart News Team, Last updated: Wed, 19th May 2021, 3:00 PM IST
  • योगी सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने बयान दिया है कि पंचायत चुनावों में शिक्षकों की कोरोना से मौत पर कुछ शिक्षक संगठन गलत आकंड़े बता रहे हैं. जिसका फायदा विपक्ष के लोग ओछी राजनीति के लिए उठा रहे हैं.
योगी सरकार ने कहा पंचायत चुनाव में सिर्फ 3 शिक्षक कर्मियों की मौत हुई.

लखनऊ. पंचायत चुनाव में कोरोना के कारण शिक्षकों की मौत पर उत्तर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने बयान दिया है. मंत्री सतीश द्विवेदी का कहना है कि कुछ शिक्षक संगठनों के पदाधिकारी शिक्षकों की मौत का आंकड़ा 1621 बता रहे हैं जो पूरी तरह से गलत और निराधार है. 

बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि भ्रामक सूचना के आधार पर विपक्ष के नेता भी ओछी राजनीति कर रहे हैं. इसी के साथ उन्होनें कहा कि जिलाधिकारियों ने केवल तीन शिक्षकों की मौत की सूचना निर्वाचन आयोग को दी है. मंत्री ने कहा कि उनके साथ हमारी पूरी संवेदना है. कोरोना से मृत शिक्षकों के आश्रितों को 30 लाख रुपए की अनुग्रह राशि और सरकारी नौकरी तथा अन्य देयकों के भुगतान प्राथमिकता के आधार पर किए जाएंगे. 

शिक्षक कर्मचारी संघ ने इससे पहले 16 मई को मुख्यमंत्री को सूची भेजते हुए चुनाव ड्यूटी में जान गंवाने वाले शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों और कर्मचारियों को एक करोड़ की आर्थिक सहायता और उनके परिजनों को नौकरी देने के साथ आठ मांगें की हैं.  

प्रियका गांधी ने बोला हमला, कहा- पंचायत चुनाव में हुए शिक्षकों की मौत पर झूठ बोल रही यूपी सरकार

प्राथमिक शिक्षक संघ ने सूची चारी करके दावा किया है कि राज्य के सभी 75 जिलों में 1621 कर्मियों की मौत हुई है. सूची के अनुसार सबसे अधिक आजमगढ़ जिले में 68 शिक्षकों-कर्मचारियों की मृत्यु हुई है. गोरखपुर में 50, लखीमपुर में 47, रायबरेली में 53, जौनपुर में 43, इलाहाबाद में 46, लखनऊ में 35, सीतापुर में 39, उन्नाव में 34, गाजीपुर में 36, बाराबंकी में 34 शिक्षकों-कर्मचारियों की मौत हुई है. 

CM साहब पैसे नहीं हैं, बेटे को बचा लीजिए... पूर्व सैनिक की CM योगी से गुहार

बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी का दावा 1621 नहीं 3 कर्मियों की मौत पंचायत चुनाव के दौरान कोविड से हुई.
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें