यूरिया की कालाबाजारी पर सख्त योगी सरकार, UP के सभी जिलों में टॉप-20 खरीदारों की होगी जांच

Smart News Team, Last updated: 25/10/2020 04:17 PM IST
  • यूपी में यूरिया की कालाबाजारी रोकने के लिए योगी सरकार ने सभी जिलों के टाॅप-20 खरीददारों की जांच के आदेश दिए. जिलाधिकारी को हर महीने जांच करने के बाद सरकार को रिपोर्ट भेजने के अलावा शासन के डैशबोर्ड पर अपलोड करना होगा.
योगी सरकार ने यूरिया की कालाबाजारी को रोकने के लिए कड़ा कदम उठाया है.

लखनऊ. योगी सरकार ने पूरे प्रदेश के सभी जिलों में टाॅप-20 यूरिया खरीददारों की जांच करने का फैसला लिया है. सरकार ने प्रदेश में यूरिया की कालाबाजारी को रोकने के लिए ये कठोर कदम उठाया है. सरकार के फैसले के अनुसार, ये जांच हर महीने के बाद होगी. आपको बता दें कि यूरिया को लेकर प्रदेश भर में मारामारी और कालाबाजारी की शिकायतें आ रही थी.

माना जा रहा है कि इस जांच के बाद ये पता चल जाएगा कि खरीदी हुई यूरिया का इस्तेमाल खेती में किया जा रहा है या नहीं. सरकार के इस फैसले के अनुसार, हर जिले के जिलाधिकारी जांच के बाद शासन को रिपोर्ट भेजेंगे. रिपोर्ट भेजने के साथ ही सरकार के डैशबोर्ड पर कार्रवाई की जानकारी को अपलोड करना होगा.

त्योहारों पर सावर्जनिक कार्यक्रमों में कोरोना गाइडलाइंस का करें पालन-CM योगी

प्रदेश सरकार के इस फैसले को लेकर कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. देवेश चतुर्वेदी ने कहा, जिलाधिकारियों को जारी किए गए निर्देशों में कहा गया है कि बीते अगस्त और सितंबर में यूरिया के टाॅप-20 क्रेताओं की सूची पोर्टल से प्राप्त कर लें. उन्होने कहा कि इन निर्देशों में ये भी कहा गया है कि पहले की ही तरह टीम गठित कर 27 अक्टूबर तक जांच और सत्यापन कराकर उसकी सूचनाएं डैशबोर्ड पर अपलोड कराएं.

लखनऊ: तीन IPL सट्टेबाज अरेस्ट, पुलिस को 3 लाख कैश समेत कई कंपनियों के फोन मिले

अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी ने कहा कि सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं कि यूरिया उर्वरक के टाॅप-20 क्रेताओं की नियमित रूप से जांच और सत्यापन कर संगत डैशबोर्ड पर सूचनाएं अपलोड की जाए. उन्होंने कहा कि इस संबंध में कृषि विभाग की ओर से आवश्यक आदेश जारी भी कर दिए गए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें