UP के 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज बनाएगी योगी सरकार, 9600 पदों पर होगी भर्ती

Nawab Ali, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 12:25 AM IST
  • उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य के 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज की कवायद शुरू कर दी है. इन मेडिकल कॉलेजों के तहत सरकार साढ़े नौ हजार लोगों की भर्ती करेगी.
योगी आदित्यनाथ सरकार यूपी के 16 जिलों में बनाएगी नए मेडिकल कॉलेज. (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य के 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज बनाने की तैयारियां शुरू कर दी है. खास बात यह है कि यह वो जिले हैं जहां पर कोई भी सरकारी या निजी मेडिकल कॉलेज नहीं है. राज्य सरकार इन मेडिकल कॉलेजों के लिए प्रदेश के साढ़े नौ हजार भर्तियां करेगी. साथ ही सरकार का दावा है कि इन मेडिकल कॉलेजों से हर साल 1600 नए डॉक्टर स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए तैयार होंगे.

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार वनडिस्ट्रिक्ट वन मेडिकल कॉलेज के तहत प्रदेश के 16 जिलों में मेडिकल कॉलेज बनाने की तैयारियों में जुट गई है. ये वो जिले हैं जहां पर कोई भी निजी व सरकारी मेडिकल कॉलेज नहीं है. सरकार इन मेडिकल कॉलेजों को पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत बनाने जा रही है. चिकित्सा विभाग के सचिव आलोक कुमार का कहना है कि इन मेडिकल कॉलेजों के बनने के बाद प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को काफी फायदा होगा जिससे लगभग छह हजार नए बैडों की संख्या बढ़ जाएगी. इन मेडिकल कॉलेजों के तहत प्रदेश में साढ़े नौ हजार नई भर्ती भी की जाएंगी.

BJP के UP चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान पूरी टीम के साथ लखनऊ में, तीन दिन बनेगी रणनीति

पीपीपी मोड में मेडिकल कॉलेज के लिए केंद्र सरकार के नियमों के तहत दो मॉडल हैं. पहले मॉडल के तहत तीन मोड क्रमश: ए, बी और सी रखे गए हैं इसमें एक मोड को सर्वाधिक वरीयता दी जाएगी जिसके तहत मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन और अस्पताल दोनों निजी क्षेत्र के ही होंगे. योगी सरकार इसमें नीति के अनुसार वित्तीय और गैर वित्तीय सहायता मुहैया कराएगी. 

CM योगी के गोरखपुर में प्रियंका गांधी उठाएंगी ऑटो वाली की बेटी मोहिनी का पढ़ाई खर्चा

मोड ‘बी’ के तहत अस्पताल निजी क्षेत्र का हो और कॉलेज के लिए जमीन सरकार एक रुपये के पट्टे पर देगी. तीसरा विकल्प जिला अस्पतालों को पट्टे पर दिए जाने का है लेकिन मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन निजी क्षेत्र को उपलब्ध करानी होगी. वहीं मॉडल-2 में केंद्र सरकार वायबिलिटी गैप फंडिंग स्कीम-2020 के तहत निजी क्षेत्र को 30 फीसदी कैपिटल ग्रांट उपलब्ध कराएगी इतनी ही ग्रांट राज्य सरकार द्वारा भी स्वीकृत किए जाने का प्रावधान है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें