जल्द हो सकता है योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, UP चुनाव से पहले नए चेहरों को मिलेगी जगह!

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Jul 2021, 3:34 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों को देखते हुए योगी मंत्रिमंडल का जल्द विस्तार हो सकता है. नए मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे देखने को मिल सकते हैं. 24 या 25 जुलाई को मंत्रिमंडल विस्तार होने की संभावना है.
योगी मंत्रिमंडल का जल्द विस्तार हो सकता है.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले जी सरकार मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां कर रही है. सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल विस्तार में कुछ युवा चेहरों को एंट्री मिलने की संभावना है. साथ ही आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए जातीय समीकरण को लेकर भी विधायकों को मंत्री बनाया जाएगा. यह भी कहा जा रहा है कि अपने कार्यकाल के दौरान अच्छा काम करने वालों को मंत्री पद की कुर्सी मिल सकती है तो वहीं ठीक से काम नहीं करने वाले मंत्रियों की कुर्सी छिन सकती है.

आपको बता दें कि मंगलवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन महामंत्री सुनील बंसल केंद्रीय नेतृत्व मिलने के लिए दिल्ली में पहुंचे. माना जा रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व ने भी मंत्रिमंडल विस्तार के लिए अपनी सहमति प्रदान कर दी है. सूत्रों के अनुसार मीटिंग के दौरान विधानसभा चुनावों को देखते हुए संगठन में कुछ बदलाव के साथ ही मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा हुई है. ऐसे में 24 या 25 जुलाई को मंत्रिमंडल विस्तार होने की संभावना है.

लखनऊ में बनेगी UP की पहली पुलिस एवं विधि विज्ञान यूनिवर्सिटी, अमित शाह 1 अगस्त को करेंगे शिलान्यास

मालूम हो कि अभी मंत्रिमंडल में 53 मंत्री हैं और 7 पद खाली हैं. ऐसे में आगामी चुनाव को देखते हुए ब्राह्रण वोटरों को लुभाने के लिए पूर्व कांग्रेसी नेता जितिन प्रसाद को मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल किया जा सकता है। इसके अलावा ओबीसी वोट बैंक को लुभाने के लिए पार्टी संजय निषाद के साथ ही बहुजन समाज पार्टी से नाराज चल रहे एक राजभर नेता को साथ में लेने पर विचार कर रही है. सूत्रों के अनुसार ओमप्रकाश राजभर की काट के लिए इस राजभर नेता के किसी परिजन को या तो एमएलसी बनाया जा सकता है या फिर मंत्रिमंडल में लिया जा सकता है. इसके अतिरिक्त भाजपा के सह संगठन मंत्री भवानी सिंह के स्थान पर संगठन के पुराने कार्यकर्ता को शामिल किया जा सकता है. साथ ही संगठन में काम कर रहे एक दलित नेता को भी मंत्री बनाया जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें