यूपी की रोडवेज बसों में शोहदों की खैर नहीं, महिलाओं के लिए दामिनी हेल्पलाइन शुरू

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 10:31 PM IST
  • यात्रा के दौरान महिलाओं के साथ होने वाली किसी भी घटना को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने दामिनी हेल्पलाइन नंबर की शुरू की. महिलाओं की सुरक्षा के लिए बसों में सीसीटीवी के साथ-साथ एक सुरक्षा गार्ड की तैनाती की गयी हैं।
UP रोडवेज ने बसों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दामिनी हेल्पलाइन सेवा शुरू की.

लखनऊ. यूपी रोडवेज की बसों में महिलाओं की सुरक्षित यात्रा के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम ने एक नई पहल की है. यूपी रोडवेज ने बसों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दामिनी हेल्पलाइन सेवा शुरू की है. यात्रा के दौरान महिलाएं किसी भी प्रकार के खतरे का एहसास होने की स्थिति में दामिनी हेल्पलाइन नंबर 811427777 पर कॉल कर सकती हैं. इसके अलावा महिलाओं की सुरक्षा को लेकर यूपी रोडवेज, बसों में सुरक्षा के कई और इंतजाम किए गए हैं.

महिला सशक्तीकरण को ध्यान में रखकर यूपी रोडवेज ने महिला यात्रियों के लिए 50 स्पेशल पिंक बसें 2017 में खरीदी थी. जिसका संचालन सितंबर 2017 में लखनऊ, गाजियाबाद, आगरा, वाराणसी और गोरखपुर के बीच शुरू हुआ. सुरक्षा के लिहाज से बसों में कुछ सुविधाओं का ध्यान रखा गया हैं. हर बसों तीन-तीन सीसीटीवी लैस होगी. 

UP उपचुनाव: कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, राहुल और प्रियंका गांधी समेत 30 स्टार प्रचारक

महिलाओं की सुरक्षा के लिए बसों में महिला कंडक्टर के साथ एक सुरक्षा गार्ड की तैनाती होगी. किसी भी आपातकालीन स्थिति में महिलाएं पैनिक बटन दबा सकती है. जिससें पास के पुलिस स्टेशन को आपकी सूचना मिल जायेगी. साथ ही सीसीटीवी के रिकार्डिग को 15 दिन तक सेव करके रखा जायेगा.

सीएम योगी ने 10 लाख कर्मचारियों को दिया स्पेशल फेस्टिवल और LTC कैश पैकेज

हर क्षेत्र में एक नोडल अधिकारी के रूप में महिला कर्मचारी को इसका दायित्व सौंपा गया हैं. नोडल अधिकारी महिला यात्री की समस्या को सुनकर इसका समाधान संबंधित इलाके के अधिकारियों से कराएंगी. किसी तरह की घटना होने की स्थिति में भी वो दामिनी हेल्पलाइन नंबर पीड़िता और रोडवेज प्रबंधन के बीच सम्पर्क का कार्य करेंगी. आधिकारियों ने बताया कि दामिनी हेल्प लाइन नंबर को हर रोडवेज बस में लिखवाया जाएगा ताकि महिला यात्री इस नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें