योगी सरकार का आदेश, 7 मई तक यूपी और मध्य प्रदेश के बीच नहीं चलेंगी बसें

Smart News Team, Last updated: Fri, 30th Apr 2021, 9:00 PM IST
यूपी में कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है. इसको देखते हुए 7 मई तक यूपी और एमपी के बीच बसों की सेवाओं पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है. इस बारे में राज्य परिवहन की ओर से दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं.
यूपी-एमपी के बीच बस सेवा पर पूरी तरह से रोक लगाने के दिशा-निर्देश जारी किए गए. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच अंतरराज्यीय बस सेवाओं पर 7 मई तक रोक लगा दी गई है. इस बारे में राज्य परिवहन प्राधिकरण के सचिव और अपर परिवहन आयुक्त ने आदेश जारी किया है. इस फैसले से यूपी की राजधानी लखनऊ, अगारा, इटावा और प्रयागराज से एमपी के बीच चलने वाली बसों पर रोक लग गई है.

इस बारे में परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक पल्ल्व बोस ने कहा कि यूपी और एमपी के बीच आधा दर्जन बस सेवाओं पर असर पड़ा है. लखनऊ, अगारा, इटावा और प्रयागराज से मध्य प्रदेश के बीच सीधी बस सेवाएं चलाई जा रही हैं. उन्होंने कहा कि इनमें सस्ते किराए की जनरथ समेत वोल्वो बसें भी शामिल हैं. अचानक बस सेवा बंद होने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा.

इस्कॉन ने कोरोना काल में पेश की मिसाल, अंतिम संस्कार के लिए देंगे फ्री लकड़ियां

इससे पहले इस बारे में मध्य प्रदेश सरकार के अपर परिवहन आयुक्त प्रवर्तन की ओर से सरकार का शासनादेश जारी किया है. इस आदेश के मुताबिक, कोविड महामारी के प्रसार को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच यात्री वाहनों के आवागमन पर 7 मई तक प्रतिबंध लगा दिया है. सात मई तक यूपी के यात्री वाहन मध्य प्रदेश नहीं जा पाएंगे और एमपी के यात्री वाहन उत्तर प्रदेश नहीं जा पाएंगे.

हॉस्पिटल बेड, टीकाकरण और अन्य समस्याओं के लिए CM को सीधे रिपोर्ट करेगी टीम-9

यूपी में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण से हालात खराब होते जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 35 हजार 104 नए केस सामने आए हैं. वहीं 25 हजार 613 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में यूपी में कोरोना से 295 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें