बिजली उपभोक्ताओं के लिए योगी सरकार लाएगी ओटीएस स्कीम, बकाए बिल का होगा समाधान

Somya Sri, Last updated: Fri, 3rd Sep 2021, 10:43 AM IST
  • प्रदेश में डेढ़ करोड़ घरेलू शहरी और ग्रामीण छोटे बिजली उपभोक्ताओं को इस ओटीएस स्कीम से लाभ मिलेगा. इस ओटीएस स्कीम के तहत करीबन 20 लाख से ज्यादा व्यापारी उपभोक्ताओं को भी लाभ मिलेगा.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार अब किसानों, व्यापारियों और अन्य छोटे बिजली उपभोक्ताओं को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है. अब प्रदेश में जल्द ही बिजली बिल के लिए ओटीएस स्कीम का इस्तेमाल किया जाएगा. इसे जल्द ही अब लांच किया जा सकता है.

मालूम हो कि प्रदेश में डेढ़ करोड़ घरेलू शहरी और ग्रामीण छोटे बिजली उपभोक्ताओं को इस ओटीएस स्कीम से लाभ मिलेगा. इस ओटीएस स्कीम के तहत करीबन 20 लाख से ज्यादा व्यापारी उपभोक्ताओं को भी लाभ मिलेगा. आपको बता दें कि प्रदेश में करीबन 50 लाख से ज्यादा उपभोक्ता हैं ऐसे हैं जिन्होंने कभी भी बिल जमा नहीं किया है. बताया जा रहा है कि ओटीएस स्कीम को लॉन्च करने के लिए जल्द से जल्द प्रस्ताव तैयार कर सरकार को भेजा जाएगा. उत्तर प्रदेश विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा की ओर से इस स्कीम की कई दिनों से मांग की जा रही थी.

CM योगी के आवास पर हुई बीजेपी कोर कमेटी की बैठक, मंत्रिमंडल विस्तार सहित कई मुद्दों पर चर्चा

बता दें कि ओटीएस स्कीम के तहत उन लोगों को काफी फायदा होगा जिन उपभोक्ताओं का बिजली बिल बकाया है. क्योंकि, बकाया बिजली बिल पर सरचार्ज लगता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस स्कीम से उपभोक्ताओं को सिर्फ 30% बिल ही जमा करना होगा. इसके बाद उनका सरचार्ज माफ़ हो जाएगा. ओटीएस स्कीम से उपभोक्ताओं को सरचार्ज से राहत मिलेगी. जब यह स्कीम लॉन्च हो जाएगी तब उपभोक्ता ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर ऑनलाइन ही बिजली बिल भर पाएंगे. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए www.upenergy.in पर जाना होगा.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, "किसानों, व्यापारियों और अन्य छोटे उपभोक्ताओं के लिए बिजली बकाए की एकमुश्त समाधान की कार्ययोजना जल्द तैयार की जाएगी." उन्होंने कहा कि, "बिजली बिल में ओवरबिलिंग और गलत बिलिंग बिल्कुल ना हो. तकनीक की मदद से इसका स्थाई समाधान निकाला जाए." बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को प्रदेश में कोरोना वायरस की स्तिथि को लेकर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी जिसमें उन्होंने ओटीएस स्कीम पर भी अपनी बात रखी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें