PhD और MPhil डिग्रीधारक शिक्षकों को योगी सरकार देगी तोहफा, जल्द बढ़ सकती है सैलेरी

ABHINAV AZAD, Last updated: Sun, 3rd Oct 2021, 9:43 AM IST
  • सरकार विश्वविद्यालय व डिग्री कालेजों में पीएचडी व एमफिल डिग्री धारक शिक्षकों को प्रोत्साहन के तौर पर वेतन वृद्धि का लाभ देगी.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालय व डिग्री कालेजों में पीएचडी व एमफिल डिग्री धारक शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है. सरकार विश्वविद्यालय व डिग्री कालेजों में पीएचडी व एमफिल डिग्री धारक शिक्षकों को प्रोत्साहन के तौर पर वेतन वृद्धि का लाभ देगी. इसके लिए उच्च शिक्षा विभाग की ओर से सभी विश्वविद्यालय व डिग्री कालेजों को पत्र लिखकर ऐसे शिक्षकों का ब्योरा मांगा गया है. दरअसल, शिक्षकों को यह लाभ देने से कितना वित्तीय भार पड़ेगा इस बात का मंथन किया जा रहा है.

बताते चलें कि पीएचडी करने वाले शिक्षकों को सेवा के दौरान तीन मिश्रित वेतन वृद्धि का लाभ मिलेगा. साथ ही ऐसे शिक्षक जो परास्नातक के बाद यूजीसी की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) के आधार पर सहायक आचार्य के पद पर भर्ती हुए हैं, वह अगर एमफिल की डिग्री हासिल करेंगे तो उन्हें दो वेतन वृद्धि का लाभ देने की व्यवस्था है. दरअसल, इसे लागू करने के बाद वित्तीय भार कितना पड़ेगा इसका मंथन जारी है.

पूर्व CM मायावती ने भाजपा-सपा पर बोला हमला , कहा- BSP सरकार की जनकल्याण योजनाओं को बंद किया

गौरतलब है कि डिग्री कॉलेजों के शिक्षकों को प्रोफेसर पद मिलने का लंबे समय से इंतजार है. इस बाबत कॉलेज शिक्षकों का कहना है कि उन्हें प्रोफेसर पदनाम नहीं दिया जा रहा है, यह उनके साथ भेदभाव है. साथ ही ऐसे शिक्षकों का कहना है कि राज्य सरकार पर इससे कोई वित्तीय भार भी नहीं पड़ेगा. इसलिए शिक्षकों की यह मांग पूरी की जानी चाहिए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें