प्रदेश में अगले 6 महीने में योगी सरकार देगी 40 हजार युवाओं को ट्रेनिंग, 51 हजार को नौकरी दिलवाने का लक्ष्य

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 8th Sep 2021, 9:34 AM IST
  • प्रदेश में योगी सरकार आने वाले 6 महीनों में 40 हजार युवाओं को उद्योगों व एमएएमई में प्रशिक्षण दिलवाने की तैयारी कर रही है. साथ ही औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में प्रशिक्षित 51 हजार युवाओं को अलग-अलग उद्योगों में रोजगार दिलवाएगी. इसकी जानकारी कौशल विकास मंत्री कपिल अग्रवाल ने दी.
प्रदेश में अगले 6 महीने में योगी सरकार देगी 40 हजार युवाओं को ट्रेनिंग, 51 हजार को नौकरी दिलवाने का लक्ष्य

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश की योगी सरकार बेरोजगारी के मुद्दे को दूर करना चाहती है. इसको लेकर वो लगातार युवाओं के रोजगार को लेकर काम कर रही है. अब योगी सरकार ने अगले 6 महीने में प्रदेश के 40 हजार युवाओं को उद्योगों व एमएसएमई में प्रशिक्षण दिलाने व 51 हजार प्रशिक्षित युवाओं को नौकरी दिलाने का लक्ष्य रखा है. इस दौरान सरकार कई नई आईटीआई का भी लोकार्पण करने की भी तैयारी कर रही है.

प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं को मिलेगा मानदेय

प्रदेश में सरकार 40 हजार युवाओं को एमएसएमई और उद्योगों में प्रशिक्षण दिलाने को लेकर काम कर रही है. इन प्रशिक्षण में जो युवा शामिल होंगे, उन्हें 7 हजार रुपये का प्रतिमाह मानदेय भी मिलेगा. साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में निर्माणाधीन 16 राजकीय औद्योगि प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) का जल्द ही लोकार्पण करेंगे.

यूपी के जेलों से जल्द बाहर आएंगे सालों से बंद 97 कैदी, सुप्रीम कोर्ट ने दी जमानत

युवाओं को हेल्थ समेत इन सेक्टर में दिया जाएगा प्रशिक्षण

व्यावसायिक शिक्षा व कौशल विकास मंत्री कपिल अग्रवाल ने बताया कोरोना प्रबंधन में हेल्थ केयर सेक्टर में 41 हजार युवाओं का विशिष्ट प्रकृति का प्रशिक्षण देने के साथ मनोरंजन व नागरिक उड्डयन जैसे सेक्टर में भी युवाओं को प्रशिक्षण देने पर काम किया जा रहा है. साथ ही लाइफ साइंसेज, रबर, इंस्ट्रूमेंटेशन, आटोमेशन, सर्विलांस, लेदर एंड स्पोटर्स के सामान के प्रशिक्षण सहित 10 सेक्टर को चिन्हित किया है.

UP मिशन 2022 के लिए कांग्रेस ने तय किए 40 से ज्यादा प्रत्याशी, प्रियंका करेंगी लखनऊ का दौरा

माइग्रेशन सेंटर में रहने व खाने की होगी निशुल्क व्यवस्था

गौतमबुद्ध नगर में माइग्रेशन सपोर्ट सेंटर की स्थापना का काम जल्द शुरू होगा. इस सेंटर में काउंसिलिंग के लिए एनसीआर व दिल्ली से आने वाले युवकों की 15 दिन तक रहने व भोजन की निशुल्क व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाएगी. साथ ही कौशल विकास विभाग के सचिव आलोक कुमार का कहना ह कि प्रशिक्षण लेने के बाद नौकरी कर रहे युवाओं से सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से फीडबैक लिया जाता है।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें