योगी सरकार के खिलाफ मौन पर बैठीं प्रियंका गांधी के 8 शब्द से पुलिस खामोश हो गई

Smart News Team, Last updated: 16/07/2021 09:01 PM IST

  • उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनावों से करीब 7-8 महीने पहले यूपी की प्रभारी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी राजधानी लखनऊ के तीन दिन के दौरे पर पहुंची हैं. प्रियंका 18 महीने बाद लखनऊ आई हैं. एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं के भव्य स्वागत के बाद वो थोड़ा ब्रेक लेकर जीपीओ पहुंचीं और महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद योगी सरकार के खिलाफ मौन व्रत पर बैठ गईं. मौन व्रत पहले सांकेतिक लगा लेकिन जब लंबा हो गया तो प्रदेश कार्यालय में जुटे कार्यकर्ता भी वहीं जमा होने लगे. फिर पहुंची लखनऊ पुलिस और उसके अधिकारियों ने प्रियंका गांधी को कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला देकर मौन व्रत तोड़ने और उठने को कहा. प्रियंका तो मौन थीं. फिर उन्होंने एक कागज पर लिखकर पुलिस को जवाब दिया, टोटल 8 शब्द में- COVID तो पंचायत चुनाव के समय भी था. खैर, कुछ देर मान-मनौव्वल के बाद प्रियंका ने व्रत तोड़ा और फिर कांग्रेस दफ्तर पहुंचीं. वहां इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाया और फिर लग गई पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में. ये सिलसिला अभी तीन दिन चलेगा. कम से कम कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को भरोसा है कि 2022 में पार्टी के अच्छे दिन तभी आएंगे जब प्रियंका दीदी कोई चुनावी चमत्कार करेंगी. 
कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर मौन धरना दिया. भीषण उमस और गर्मी के बीच प्रियंका करीब सवा दो घंटे तक प्रतिमा के नीचे बैठी रहीं.
1/12 कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को जीपीओ स्थित गांधी प्रतिमा पर मौन धरना दिया. भीषण उमस और गर्मी के बीच प्रियंका करीब सवा दो घंटे तक प्रतिमा के नीचे बैठी रहीं.
लखनऊ एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं के स्वागत के बीच प्रियंका एक छोटा सा ब्रेक लेकर जीपीओ पहुंचीं और महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.
2/12 लखनऊ एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं के स्वागत के बीच प्रियंका एक छोटा सा ब्रेक लेकर जीपीओ पहुंचीं और महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.
प्रियंका गांधी के साथ यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू समेत अन्य नेता भी मौन व्रत पर बैठ गए.
3/12 प्रियंका गांधी के साथ यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू समेत अन्य नेता भी मौन व्रत पर बैठ गए.
फिर आई लखनऊ पुलिस और कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला देकर उठने को कहा क्योंकि भीड़ काफी जमा हो गई थी. प्रियंका ने एक कागज पर आठ शब्द लिखकर पुलिस से कहा- कोरोना तो पंचायत चुनाव के समय भी था.
4/12 फिर आई लखनऊ पुलिस और कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला देकर उठने को कहा क्योंकि भीड़ काफी जमा हो गई थी. प्रियंका ने एक कागज पर आठ शब्द लिखकर पुलिस से कहा- कोरोना तो पंचायत चुनाव के समय भी था.
प्रियंका गांधी के आने से कांग्रेस कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं. जहां-जहां प्रियंका के जाने की खबर थी वहां पहले से ही कार्यकर्ता भारी संख्या में जमा थे.
5/12 प्रियंका गांधी के आने से कांग्रेस कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं. जहां-जहां प्रियंका के जाने की खबर थी वहां पहले से ही कार्यकर्ता भारी संख्या में जमा थे.
जीपीओ से उठकर प्रियंका कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय पहुंचीं और सबसे पहले अपनी दादी पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाया.
6/12 जीपीओ से उठकर प्रियंका कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय पहुंचीं और सबसे पहले अपनी दादी पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाया.
कांग्रेस दफ्तर में पीएल पूनिया समेत अन्य नेताओं ने उनका स्वागत किया.
7/12 कांग्रेस दफ्तर में पीएल पूनिया समेत अन्य नेताओं ने उनका स्वागत किया.
प्रियंका गांधी के लिए नेता फल और मिठाई भी लेकर आए थे.
8/12 प्रियंका गांधी के लिए नेता फल और मिठाई भी लेकर आए थे.
और फिर शुरू हो गया कांग्रेस की बैठकों का दौर जिसके लिए प्रियंका लखनऊ आई हैं और अगले तीन दिन लखनऊ में रहकर ही यूपी चुनाव की रणनीति बनाएंगी.
9/12 और फिर शुरू हो गया कांग्रेस की बैठकों का दौर जिसके लिए प्रियंका लखनऊ आई हैं और अगले तीन दिन लखनऊ में रहकर ही यूपी चुनाव की रणनीति बनाएंगी.
प्रियंका गांधी ने अपने चैंबर में मीटिंग के बाद बड़े हॉल का रुख किया जहां बड़ी संख्या में लखनऊ और आस-पास के जिलों से आए कार्यकर्ता उन्हें सुनने आए थे.
10/12 प्रियंका गांधी ने अपने चैंबर में मीटिंग के बाद बड़े हॉल का रुख किया जहां बड़ी संख्या में लखनऊ और आस-पास के जिलों से आए कार्यकर्ता उन्हें सुनने आए थे.
औपचारिक रूप से यह आयोजन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के स्वागत का था.
11/12 औपचारिक रूप से यह आयोजन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के स्वागत का था.
प्रियंका गांधी के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और नेता शामिल हुए. आगे छोटी-छोटी बैठकों और मुलाकातों का दौर शुरू होगा जिससे 2022 के चुनाव की रणनीति निकलेगी.
12/12 प्रियंका गांधी के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और नेता शामिल हुए. आगे छोटी-छोटी बैठकों और मुलाकातों का दौर शुरू होगा जिससे 2022 के चुनाव की रणनीति निकलेगी.