निजी बीएड, बीटीसी कॉलेजों की प्रशासन करेगा जांच, छात्रवृत्ति में धांधली का शक

Smart News Team, Last updated: 15/10/2020 11:24 PM IST
  • प्रशासन ने निजी बीएड और बीटीसी कॉलेजों में जांच के आदेश दिए हैं. दरअसल, प्रशासन को आशंका है कि कुछ कॉलेज केवल छात्रवृत्ति पाने के लिए चलाए जा रहे हैं. वह कॉलेज के मानक पर भी पूरे नहीं उतरते हैं.
उत्तरप्रदेश सरकार निजी बीएड और बीटीसी कॉलेजों में जांच के आदेश दिए हैं

 लखनऊ: उत्तरप्रदेश सरकार ने हाल ही में एक बड़ा कदम उठाते हुए निजी बीएड और बीटीसी कॉलेजों में जांच के आदेश दिए हैं. दरअसल, प्रशासन को छात्रवृत्ति में घपले की आशंका है. ऐसी आशंका है कि बहुत सारे निजी कॉलेज केवल छात्रवृत्ति के लिए ही चलाए जा रहे हैं, यह कॉलेज के मानक तक पूरे नहीं करते हैं, स्टॉफ की नियुक्ति भी केवल कागजों पर है. ऐसे में प्रशासन ने सख्त कदम उठाते हुए जांच के आदेश दिए हैं. पहले चरण में प्रत्येक मंडल के एक जिले के सभी निजी बीएड व बीटीसी कॉलेजों की जांच की जाएगी. पहले चरण में प्रदेश के 18 जिलों में कॉलेजों की जांच के लिए जांच समिति भी गठित कर दी गई है.

लखनऊ: पशुधन घोटाले में निलंबित DIG की जमानत अर्जी विशेष जज ने की खारिज

बता दें, समाज कल्याण व अल्पसंख्यक कल्याण के प्रमुख सचिव बीएल मीणा ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं. निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण सी इन्दुमती की अध्यक्षता में तीन सदस्यी जांच समिति बनाई गई है, इसमें समाज कल्याण के सहायक निदेशक सिद्धार्थ मिश्र व पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के उप निदेशक अजीत प्रताप सिंह सदस्य बनाए गए हैं.

बीएल मीणा ने आदेश में कहा गया है कि प्रत्येक मंडल के किसी एक जनपद के सभी निजी बीएड व बीटीसी कॉलेजों की जांच की जाए. जांच में जिला प्रशासन का भी सहयोग लिया जा सकता है. जांच समिति को जल्द से जल्द जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें