मेट्रो रूट पर नही मिलेंगे ऑटो और सिटी बसें, जानिए क्या है वजह

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 05:37 PM IST
  • मेट्रो में सवारियों की संख्या बढ़ाने के लिए परिवहन विभाग जल्द ही शासन स्तरीये बैठक में सिटी बस और ऑटो को हटाने के लिए प्रस्ताव देने वाला है. इस प्रस्ताव की मंजूरी के बाद मेट्रो रूट पर सिटी बसें और ऑटो नहीं मिलेगी. विभाग ने इनके नए रूट की तलाश शुरू कर दी है.
लखनऊ मेट्रो में सवारियों की भीड़ बढ़ाने के लिए हटाए जाएंगे ऑटो और सिटी बसें

लखनऊ. अब आपको मेट्रो रूट पर ऑटो और सिटी बसें नही मिलेंगी. संभागीय परिवहन कार्यालय जल्द ही शासन स्तर पर होने वाली बैठक में प्रस्ताव पेश करने वाला है जो काफी दिनों से टल रहा था.

मेट्रो में सवारियों की भीड़ बढ़ाने के लिए परिवहन कार्यालय द्वारा यह कदम उठाया जा रहा है. हालांकि मेट्रो के समानांतर चलने वाली बसें और ऑटो के हटने से आम जनता को काफी नुकसान होगा. क्योंकि मेट्रो की अपेक्षा सिटी बसों और ऑटो का किराया काफी कम है. रोजाना सफर करने वाले यात्रियों को इससे काफी परेशानी होगी.प्रमुख सचिव नगर विकास की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में कार्यालय द्वारा दिये गए प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाने की पूरी उम्मीद है. इस लिए मेट्रो के समान रूट पर चलने वाले ऑटो और सिटी बसों के लिए नए रूट की तलाश शुरू कर दी गई है ताकि इनके नुकसान को बचाया जा सके.

यूपी 69000 शिक्षक भर्ती: काउंसिलिंग प्रक्रिया पूरी, आज मिलेंगे नियुक्ति पत्र

अमौसी से लेकर मुंशीपुलिया तक मेट्रो का सबसे लंबा रूट है. इस रूट पर सिटी बस और ऑटो भारी संख्या में रोजाना सवारियों को ढो रही है. एक अनुमान के मुताबिक इस रूट पर एक हज़ार से ज्यादा ऑटो और 20 से ज्यादा सिटी बसें चलती है.मेट्रो में यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए संभागीय परिवहन कार्यालय की ओर से मेट्रो रूट पर सिटी बस और ऑटो हटाने का प्रस्ताव रखा जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें