छात्रों के लिए सीएम योगी का नया फरमान, नए साल पर यूपी सरकार ने की अलग तैयारी

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 02:34 PM IST
  • नर्सिंग एवं पैरामेडिकल डिग्री व डिप्लोमा कोर्स की कक्षा शुरू होने के बाद राज्य सरकार अब एमबीबीएस व बीडीएस की कक्षाएं करेगी शुरू. राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों से कोविड-19 से बचाव की तैयारियों की जुटा रही जानकारी.
लखनऊ: राज्य सरकार अब एमबीबीएस व बीडीएस की कक्षाएं करेगी शुरू

लखनऊ:  कोविड-19 की वजह से स्थगित चल रही कक्षाओं को दोबारा शुरू करने के लिए लगातार राज्य सरकार प्रयास कर रही है. प्रदेश सरकार ने धीरे-धीरे सभी कोर्स को संचालित किए जाने का खाका तैयार करना शुरू कर दिया है.इसी क्रम में राज्य सरकार ने एमबीबीएस व बीडीएस की कक्षाएं भी शुरू करने का खाका तैयार कर लिया है. एक तरफ राज्य सरकार द्वारा नर्सिंग व पैरामेडिकल के डिग्री व डिप्लोमा कोर्स की कक्षाएं शुरू कर दी गई है.

ऐसी स्थिति में ही कॉलेज खोलने की मंजूरी कॉलेज को मिल सकेगी. राज्य सरकार इसके लिए प्रदेश के सभी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों से कोविड-19 के बचाव की तैयारियों को लेकर की जा रही जानकारी को इकट्ठा करना शुरू कर दिया है.साथ ही हॉस्टल, लाइब्रेरी व लेबोरेटरी आदि में सोशल डिस्टेंसिंग से जुड़ी गाइड लाइन की तैयारियों के बारे में भी सभी मेडिकल एवं डेंटल कालेजों से सूचनाएं मांगी गई है.

युवाओं का मार्ग दर्शन करने के लिए वेबिनार का हुआ आयोजन

इन जरूरी तैयारियों का जायजा लेने के बाद कक्षाओं के शुरू करने की तिथि घोषित की जा सकेगी. बताया जाता है कि नर्सिंग एवं पैरामेडिकल की भांति एमबीबीएस एवं बीडीएस की कक्षाओं में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को भी कक्षा में शामिल होने के लिए अपने माता-पिता या अभिभावक की सहमति पत्र लाना भी अनिवार्य होगा.कॉलेज में सहमति पत्र जमा होने के बाद ही छात्रों को शिक्षा के लिए प्रवेश मिल सकेगा अन्यथा की स्थिति में उन्हें शिक्षण कार्य के लिए प्रवेश नहीं मिल सकेगा.

साथ ही मेडिकल कालेजों को कक्षाएं शुरू होने से पहले सभी कक्षाओं को पूरी तरह से सेनिटाइज करना अनिवार्य होगा. जबकि शिक्षकों के साथ-साथ हर छात्र-छात्राओं को हॉस्टल, लैबोरेटरी तथा एकेडिमिक ब्लाकों में सेशोल डिस्टेसिंग का पालन करना होगा. प्रवेश द्वार पर थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था एवं छात्रों को आरोग्य सेतु ऐप को मोबाइल में डाउन लोड करना भी जरूरी होगा.सरकार ने बुधवार को नर्सिंग एवं पैरामेडिकल के डिग्री व डिप्लोमा कोर्सों की कक्षाएं कुछ शर्तों के साथ शुरू करने की अनुमति दे दी है.

लखनऊ: कोरोना काल में शिक्षण संस्थान खुले, कॉलेजों में पहले दिन 30 % छात्र पहुंचे

इसके तहत प्रदेश में नर्सिंग एवं पैरामेडिकल के डिग्री एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के छात्र-छात्राओं की ऑफलाइन कक्षाएं निर्धरित की गई तिथियों से शुरू की जाएंगी.इसमें बीएससी नर्सिंग की कक्षाएं तथा पैरामेडिकल डिग्री प्रशिक्षण 8 दिसम्बर से शुरू होंगे जबकि एमएससी नर्सिंग की कक्षाएं एवं पैरामेडिकल डिप्लोमा प्रशिक्षण (फार्मेसी सहित) 11 दिसम्बर से शुरू होंगी.

वहीं पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की कक्षाएं 14 दिसम्बर से प्रारम्भ होंगी जबकि जीएनएम तथा एएनएम की कक्षाएं 17 दिसम्बर से प्रारम्भ की जाएंगी. इन दोनों कोर्स को शुरू किए जाने की सरकार से अनुमति मिल चुकी है.जिसको लेकर सभी तरह की तैयारियां हो चुकी है. कॉलेज अब सोशल डिस्टेंसिंग व सरकार द्वारा जारी कोविड-19 की गाइडलाइन को पूरा करते हुए कॉलेज को शिक्षण के लिए खोल सकेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें