लखनऊ: दवा व्यापारी की मौत, बाजारों में नहीं हो रहा है सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

Smart News Team, Last updated: 21/08/2020 09:59 AM IST
  • लखनऊ में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. गुरुवार को कोरोना के कारण एक दवा व्यापारी की मौत हो गई। लखनऊ के बाजारों में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं कर रहे हैं. साथ ही अफसर भी लगातार मामलों की अनदेखी कर रहे हैं.
त्योहारों की वजह से बाजारों में काफी भीड़ है. लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं कर रहे हैं.

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के अमीनाबाद में कोरोना के कारण से एक दवा कर्मचारी की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार दवा बाजार कुरेशी मार्केट तकिया स्थित एमके मेडिकल के प्रोपराइटर मयूराक्षी कुमार ने कोरोनावायरस से कल दम तोड़ दिया. केमिस्ट एसोसिएशन के प्रवक्ता मयंक रस्तोगी के ने बताया कि मयूराक्षी को निमोनिया हो गया था. जिसके बाद उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो गई थी. 

बाद में कोरोना के लक्षण दिखने पर उनकी कोरोना की जांच कराई गई तो उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई. अभी उनके पुत्र समेत परिवार के बाकी सदस्य घर में क्वॉरन्टीन हैं. मयूराक्षी की असमय मृत्यु से एसोसिएशन परिवार के सदस्य दुखी हैं. मयंक ने कहा कि मयूराक्षी का इस तरह जाना हम सब के लिए काफ़ी दुख की बात है.एसोसिएशन की संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.

कोरोना से जीत रहा है लखनऊ, पॉजिटिव मरीज से ज्यादा निगेटिव डिस्चार्ज, 11 की मौत

वहीं दूसरी तरफ़ लखनऊ में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. फिर भी लोग ना तो मास्क पहन रहे हैं और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं.त्योहारों के चलते बाज़ार भी गर्म हैं. ऐसे में बाजारों में तो हाल और भी बुरा है. यहां पर सोशल डिस्टेंसिंग दूर की बात है, लोग भीड़ लगाए खरीददारी करने में जुटे रहते हैं. इसके अलावा जिन अफसरों पर सोशल डिस्टेंसिंग के अमल की जिम्मेदारी है. वे भी इन हालातों की लगातार अनदेखी कर रहे हैं.इसी लापरवाही का नमूना अमीनाबाद, निशांत गंज और आईटी चौराहे के आसपास देखा जा सकता है.

लखनऊ: लॉकडाउन में लोगों की पिटाई करने वाले SDM को CM योगी ने किया सस्पेंड

सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशुतोष दुबे का कहना है कि बिना मास्क लगाकर घूमना कोरोना प्रोटोकॉल को तोड़ना है. इससे हम खुद के साथ-साथ दूसरों की जिंदगी के साथ भी खिलवाड़ कर रहे हैं. बिना मास्क लगाकर रोड पर टहलने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना की स्थिति लगातार बिगड़ रही है. पिछले कुछ दिनों में योगी सरकार के कई मंत्री भी कोरोनावायरस की चपेट में आ चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें