जानिए, दुनिया में कैसे आया 'टैडी बियर', क्यों इसका नाम पड़ा Teddy

Ruchi Sharma, Last updated: Tue, 15th Feb 2022, 8:44 AM IST
  • अमेरिका के राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट की सहमति के बाद ही पहली बार साल 1903 को मॉरिस मिख्टॉम ने जब अपने हाथ से बनाए गोल मटोल मासूम से दिखने वाले भालू की शक्ल के दो साफ्ट टॉय बाजार में उतारे तो इन्हें ‘टैडी’ नाम दिया.
teddy bear

टैडी बियर सबसे पसंदीदा गिफ्ट होता है. बच्चे हों या बूढ़े हर किसी को टैडी बियर काफी पसंद होता है. वैलेंटाइन डे पर इसका काफी महत्व होता है. वैलेंटाइन डे वीक के चौथे दिन टैडी डे बनाया जाता है. टैडी बियर पूरी दुनिया में लोकप्रिय हैं लेकिन उससे भी ज्यादा लोकप्रिय है इसके इस दुनिया में आने की कहानी जो काफी दिलचस्प है. क्या आप जानते हैं टैडी बियर दुनिया में कब आया दरअसल अमेरिका के राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट की सहमति के बाद ही पहली बार साल 1903 को मॉरिस मिख्टॉम ने जब अपने हाथ से बनाए गोल मटोल मासूम से दिखने वाले भालू की शक्ल के दो साफ्ट टॉय बाजार में उतारे तो इन्हें ‘टैडी’ नाम दिया. यह टैडी बियर से दुनिया की पहली मुलाकात थी.

बता दें कि अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट को लोग प्यार से ‘टैडी’ बुलाया करते थे और मिख्टॉम ने अपने खिलौने का नाम टैडी रखने के लिए खास तौर से राष्ट्रपति रूजवेल्ट से इसकी इजाजत ली थी. उन्होंने इसके लिए बाकायदा उन्हें एक अर्जी भेजी और राष्ट्रपति ने खुशी खुशी इसके लिए अपनी अनुमति दे दी. उस वक्त मिख्टॉम और रूजवेल्ट दोनों में से किसी को भी यह एहसास नहीं रहा होगा कि एक दिन उनका यह खिलौना दुनिया भर के बच्चों की पहली पसंद बन जाएगा.

UP चुनाव 2022: लखनऊ में वोटरों से ज्यादा वाहन, 5 सालों में 70 हजार बढ़े मतदाता

10 फरवर को मनाया जाता है टैडी डे

हालां‍कि 10 फरवरी को ही Teddy Day क्‍यों मनाया जाता है. वेलेंटाइन वीक का एक दिन टैडी के नाम रखा गया है. इस खास दिन प्रेमी जोड़े एक दूसरे को टैडी गिफ्ट करते हैं. टैडी को प्यार का इजहार करने का बेस्ट तरीका माना जाता है. मार्केट में टैडी बियर के कई रंग व कई स्टाइल देखें जा सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें