मुहर्रम के चांद के दीदार, शुक्रवार को पहला दिन, 30 अगस्त को यौम-ए-आशूरा

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 08:07 PM IST
  • मुहर्रम का चांद नजर आ गया है. शुक्रवार 21 अगस्त को इस्लाम के पहले महीने मुहर्रम की पहली तारीख होगी और 30 तारीख को 10 दिन बाद यौमे अशूरा होगा.
मुहर्रम के चांद के दीदार, शुक्रवार को पहला दिन, 30 अगस्त को यौम-ए-आशूरा

लखनऊ. गुरुवार 20 अगस्त की शाम को मुहरर्म का चांद नजर आ गया है. शुक्रवार 21 अगस्त को मुहरर्म की पहली तारीख होगी. 10 दिन बाद 30 अगस्त को यौम ए अशुरा होगा. इस्लामिक कैलेंडर के लिहाज से मुहर्रम पहला महीना माना जाता है जिसे साल-ए-हिजरत भी कहा जाता है. लखनऊ में इस बार कोरोना गाइडलाइन के अनुसार मुहर्रम मनाया जाएगा. किसी भी तरह का जुलूस नहीं निकाला जाएगा. पहले ही योगी सरकार मुहर्रम को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर चुकी है.

मालूम हो कि मुहर्रम को गम का महीना कहा गया है. करीब 1400 साल पहले मुहर्रम के महीने में ही कर्बला की जंग हुई थी जिसमें इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों की शाहदत हो गई थी. आज भी इसका मातम किया जाता है. मुहर्रम के दिन मातम में ताजिया और जुलूस भी निकाले जाते हैं. हालांकि, इस बार कोरोना काल में ऐसा करने पर सरकार की ओर से रोक रहेगी.

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020: यूपी में लखनऊ सबसे साफ शहर, प्रदेश में आगरा दूसरे नंबर पर

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुहर्रम और गणेश चतुर्थी पर बड़ा फैसला किया है. सरकार की ओर से कहा गया है कि कोरोना नियमों का पालन करते हुए मुहर्रम और गणेश चतुर्थी मनाई जाए. किसी भी तरह का कोई जुलूस, झांकी या शोभायात्रा नहीं निकाली जाएगी. इसके साथ ही कहीं भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें