लखनऊ: कोरोना काल में पहली बार होगा आनलाइन होगा मुहर्रम का जलसा आयोजन

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 05:02 PM IST
  • मुहर्रम में पहली बार आनलाइन जलसे का आयोजन होगा. 20 को चांद दिखने के बाद 21 को मुहर्रम मनाया जाएगा. खलिद रशीद ने की घर पर ही मुहर्रम मनाने अपील की. दस दिवसीय आनलाइन जलसे का आयोजन दारूल उलूम करेगा.
लखनऊ: कोरोना काल में पहली बार होगा आनलाइन होगा मुहर्रम का जलसा आयोजन

लखनऊ. राजधानी में इस बार कोरोना के कहर को देखते हुए मुहर्रम मौके पर जलसे का कार्यक्रम आनलाइन करने का फैसला किया गया है. देश  के जाने-माने इस्लामिक स्कालर खालिद रशीदी फिरंगी महली ने पत्र जारी करके आम जनता और मौलानाओं से ये अपील की है कि कोरोना के खतरे को ध्यान में रखते हुए इस बार मुहर्रम के जलसे का आयोजन आनलाइन किया जाए.  

ताजा जानकारी के मुताबिक मुहर्रम का चांद आज यानी 20 अगस्त को देखा जाएगा. जिसके बाद मुहर्रम कल यानी 21 अगस्त को मनाया जाएगा , जबकि यौमा-ए-आशूरा 30 अगस्त को होगा. हर साल सुन्नत वल जमात की ओर से मुहर्रम के महीने में शहर भर में बड़े स्तर पर जलसे का आयोजन किया जाता है.लेकिन वैश्विक महामारी और सरकारी गाइडलाइन के कारण इस बार मुस्लिम संगठनों ने आनलाइन जलसे का आयोजन करने का फैसला किया है. 

स्वच्छ सर्वेक्षण 2020: यूपी में लखनऊ सबसे साफ शहर, प्रदेश में आगरा दूसरे नंबर पर

इस्लामिक स्कालर मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने आम लोगों से मुहर्रम की नमाज और इफ्तार अपने घरों में ही करने की अपील की है. रशीद ने कहा कि यह बीमारी बहुत तेजी से फैल रही है. इसको मद्देनजर रखते हुए इस्लामिक सेंटर आफ इंडिया ने यह फैसला किया है कि दारूल उलूम पहली मुहर्रम से दसवीं मुहर्रम तक होने वाले दस दिनों के लगातार जलसे का आयोजन आनलाइन करे. इसके साथ ही उन्होनें ने मुस्लिम समाज के लोगों से कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़ी सभी जरुरी बातों को ध्यान में रखने की अपील की है.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें