लखनऊ विश्वविद्यालय ने यूपी सरकार से मांगी 50 करोड़ की मदद, भेजा प्रस्ताव

Smart News Team, Last updated: Fri, 16th Oct 2020, 3:01 PM IST
  • लखनऊ विश्वविद्यालय ने यूपी सरकार को 50 करोड़ रुपये का प्रस्ताव भेजा है. यह प्रस्ताव लविवि ने अपने 100 साल पूरे करने पर भेजा है. विश्वविद्यालय को सलाना 30 करोड़ रुपये मिलते है.
लखनऊ विश्वविद्यालय ने अपनी 100वी वर्षगाँठ पर सरकार से मांगी 50 करोड़ की मदद

लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय के 100 साल पूरे होने वाले हैं. अपनी स्थापना के लिए विश्वविद्यालय ने यूपी सरकार से 50 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता मांगी है. जिसके लिए प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है.

 लखनऊ विश्वविद्यालय अपने स्थापना दिवस पर 18 से 25 नवंबर तक कार्यक्रम कर रहा है. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समेत राष्ट्रपति, रक्षामंत्री, मानव संसाधन मंत्री और प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री समेत कई मंत्रियों को आमंत्रित किया गया है.वर्ष 1864 में लखनऊ विश्वविद्यालय की नींव पड़ी थी. तब यह कैनिंग कॉलेज के नाम से जाना जाता था. वर्ष 1920 में इसको विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया.

आजम खान की बहन के खिलाफ एलडीए की कार्रवाई, लखनऊ में आवंटित बंगला निरस्त

100 साल पूरे करने के बाद भी लविवि की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. विश्वविद्यालय को सरकारी अनुदान के नाम पर साल में 30 करोड़ रुपये ही मिलते है. यूपी सरकार को भेजे गए प्रस्ताव से लखनऊ विश्वविद्यालय को उम्मीद है कि उनको मांगी गई राशि मिलेगी.लविवि के इस मुख्य कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय लखनऊ विश्वविद्यालय की सौ साल की रिपोर्ट पेश करेंगे. विश्वविद्यालय इस कार्यक्रम के पूरी तैयारी ने जुटा हुआ है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें