मास्क ना पहनने पर अजीब तर्क देना पड़ा भारी, वीडियो वायरल होते ही पागलखाने भेजा

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Aug 2021, 4:33 PM IST
  • मास्क ना पहनने की एक व्यक्ति को ऐसी सजा मिली कि उसने सभी को चौंका दिया है. व्यक्ति ट्रेन सफर से लेकर अपने ऑफिस में भी मास्क नहीं पहनता था. लोगों ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन उसने तर्क दिया कि मास्क किसी भी तरह से कोरोना वायरस को नहीं रोक सकता है. इस तर्क के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने व्यक्ति को पकड़ लिया और उसे पागलखाने भेज दिया. 
मास्क नहीं पहनने के लिए दिया अजीब तर्क तो कोर्ट ने मानसिक इलाज के लिए भेजा.

लखनऊ. कोरोना महामारी का प्रकोप जहां एक तरफ थमने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग अभी भी मास्क पहनने से कतरा रहे हैं. सिर्फ इतना ही नहीं मास्क नहीं पहनने को लेकर ऐसे तर्क दे रहे हैं जो किसी भी तरह से जायज नहीं है. ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें एक व्यक्ति ने ट्रेन के सफर के दौरान मास्क नहीं पहना है. सिर्फ इतना ही नहीं कि मास्क नहीं पहनने का ऐसा तर्क दे डाला कि उसे पागलखाने भेज दिया गया.

व्यक्ति ने सिर्फ ट्रेन यात्रा के दौरान ही नहीं बल्कि ऑफिस में भी मास्क पहनने से मना कर दिया. व्यक्ति का कहना है कि मास्क कोरोना को रोकने या उससे बचाव करने में पूरी तरह से फेल है. लोगों ने उसे समझाया तो व्यक्ति ने वही तर्क दोहरा दिया. इस घटना की ट्रेन सफर के दौरान अन्य व्यक्ति ने वीडियो बना दी. वीडियो वायरल होने के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों ने मास्क ना पहनने वाले व्यक्ति को पकड़ लिया. इसके बाद व्यक्ति पर कई गंभीर आरोप लगाए गए. कोर्ट ने भी इस मामले की सुनवाई तुंरत की और व्यक्ति को मानसिक अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया. 

जरूरी खबर: अब पांच साल से छोटे बच्चों का भी बनेगा आधार कार्ड, फुल डिटेल्स

व्यक्ति ने अपने बचाव में कई तर्क दिए लेकिन कोर्ट ने कोरोना से बचाव के नियमों पर ऐसा तर्क सुनने के बाद व्यक्ति को मानसिक इलाज के लिए भेज दिया. अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के अनुसार यह मामला सिंगापुर का है. सिंगापुर में नौकरी करने वाले ब्रिटिश नागरिक बेंजामिन ग्लिन ने इस मास्क को लेकर अजीब तर्क दिया है. सिंगापुर अभी भी कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन कर रहा है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें