रंगोली को सही तरीके से बनाने से प्रसन्न होकर पधारेंगी मां लक्ष्मी, जानें महत्व

Smart News Team, Last updated: Tue, 10th Nov 2020, 9:07 PM IST
  • दिवाली में रंगोली बनाने की परंपरा का विशेष महत्व है. कई तरह की रंगोली बनाई जाती है
रंगोली को सही तरीके से बनाने से प्रसन्न होकर पधारेंगी मां लक्ष्मी

दिवाली के दिन रंगोली ना बने ऐसा तो हो ही नहीं सकता, बिना रंगोली के दिवाली अधूरी सी लगती है. दिवाली में रंगोली बनाने की परंपरा का विशेष महत्व है. कई तरह की रंगोली बनाई जाती है, तरह-तरह की रंगोली आपको देखने को मिल जाएंगे. रंगोली केवल खूबसूरती के लिए नहीं बनाई जाती है. रंगोली को विशेष तरीके से बनाने पर यह एक यन्त्र की तरह की कार्य करता है. देवी देवताओं के स्वागत, विशेष रूप से मां लक्ष्मी के लिए इसको घर के मुख्य द्वार पर बनाते हैं.

दिवाली पर रंगोली में ज्यादातर स्वस्तिक, कमल का फूल या फिर लक्ष्मी जी के पदचिह्न बनाए जाते हैं. ये रंगोली समृद्धि और मंगलकामना का संकेत देती है. रंगोली घरों से नकारात्मक ऊर्जा को भी दूर करती है. रंगोली बनाने के कुछ नियम होते हैं. इस तरीके से रंगोली बनाने से लक्ष्मी माता प्रसन्न होंगी. दिवाली के दिन मुख्य द्वार के अलावा मां लक्ष्मी की मूर्ति के समक्ष भी एक गोलाकार रंगोली जरूर बनाएं.

Dhanteras 2020: धनतेरस के दिन घर ले आएं ये चीजें, माना जाता है शुभ

मूर्ति के समक्ष भी एक गोलाकार रंगोली बनाकर एक घी का दिया रखें. रंगोली बनाने के लिए पीले रंग का इस्तेमाल करें. रंगोली में काले रंग का उपयोग नहीं करना चाहिए. मुख्य द्वार की रंगोली के दोनों ओर दीपक जलाना चाहिए, तभी यह जाग्रत होगा. जाग्रत रंगोली से धन के आगमन की संभावना प्रबल हो जाती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें