Rama Ekadashi: रमा एकादशी व्रत करने से मिलता है यह लाभ, जानें क्या है महत्व

Smart News Team, Last updated: Sun, 8th Nov 2020, 7:36 PM IST
  • इस साल रमा एकादशी 11 नवंबर यानी की बुधवार को है. इस इन की मान्यता है, कहा जाता है कि इस दिन व्रत करने से मनुष्य के सभी पाप हो जाते हैं.
रमा एकादशी व्रत करने से मिलता है यह लाभ

हिंदू धर्म में रमा एकादशी का बहुत ही महत्व है. कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष में होता है, इस साल रमा एकादशी 11 नवंबर यानी की बुधवार को है. इस इन की मान्यता है, कहा जाता है कि इस दिन व्रत करने से मनुष्य के सभी पाप हो जाते हैं. पद्म पुराण के अनुसार रमा एकादशी का व्रतकरने से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है. इस व्रत को करने से विष्णु जी के साथ मां लक्ष्मी की कृपा भी मिलती है, जिससे जीवन में धन-धान्य की कमी नहीं रहती है.

ज्योतिष्यों के अनुसार रमा एकादशी का नाम भगवान विष्णु की पत्नी लक्ष्मी जी के नाम पर है. लक्ष्मी माता को रमा के नाम से भी जाना जाता है.इस दिन की मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से श्रद्धालुओं पर भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की कृपा बरसती है और व्रती को सभी सुखों की प्राप्ति होती है. इस दिन कुछ विशेष कार्य करने होते हैं. एकादशी के दिन ब्रह्ममुहूर्त में स्नानादि करने के पश्चात व्रत का संकल्प लें और भगवान विष्णु की पूजा करें

Ahoi Ashtami 2020: जानें कब है अहोई अष्टमी व्रत पूजा शुभ मुहूर्त

रमा एकादशी के दिन भगवान विष्णु के समक्ष दीप जलाएं धूप दिखाएं, फल-फूल व मिष्ठान के साथ तुलसी के पत्ते अर्पित करें. दिनभर फलाहार ग्रहण कर रात्रि जागरण करके भजन कीर्तन करने करें. एकादशी का व्रत द्वादशी तक चलता है. द्वादशी तिथि को सुबह उठकर विष्णु जी कीपूजा करें उसके बाद ब्राह्मण को भोजन कराएं और दक्षिणा दें फिर स्वयं भी व्रत का पारण करें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें