आज है चंद्र दर्शन, जानें समय और इस मंत्र के जाप से करें चंद्रमा को खुश

Smart News Team, Last updated: 11/06/2021 08:37 AM IST
  • चंद्र दर्शन का अपने आप में ही एक बहुत बड़ा महत्व होता है. इस दिन लोग पूरे दिन व्रत रखते हैं. शाम को चांद के दर्शन के बाद ही भोजन और पानी ग्रहण करते हैं. इस बार चंद्र दर्शन 11 जून को मनाया जा रहा है. 
chandra darshan in june 2021

चंद्र दर्शन आज यानी 11 जून को है. पौराणिक ग्रंथो के अनुसार अमास्या के बाद जो दिन होता है या फिर दूसरा दिन वो चंद्र दर्शन दिवस के नाम से जाना जाता है. पृथ्वी से जब चंद्रमा को देख पाना संभव नहीं होता है तो इस दिन को हिंदू धर्म में अमावस्या के नाम से जाना जाता है. तो वहीं ज्योतिष शास्त्र में ही इस तिथि को अमास्या ही कहा जाता है. धार्मिक ग्रंथ में चंद्र दर्शन का अपना एक अलग ही महत्व होता है. इस दिन व्यक्ति पूरे दिन व्रत रखते हैें, और शाम को चांद देखने के बाद ही भोजन करते हैं. 

चंद्र दर्शन दिवस की गणना ज्योतिष शास्त्र में बहुत ही ज्यादा चुनौतीपूर्ण मानी जाती है. क्योंकि चंद्रमा इस दिन सूर्यास्त होने के बाद ही महज कुछ समय के लिए दिखता है. तो वहीं सूर्य और चंद्रमा इस दिन एक समान क्षितिज पर स्थित रहते हैं. यही कारण है कि सूर्यास्त के बाद ही चंद्र दर्शन संभव होता है, जिस दौरान स्वयं चंद्रमा अस्त होने वाला होता है.

Shani Jayanti 2021: ऐसे करें शनि देव को प्रसन्न, जानें शनि देव की आरती, मंत्र

ये है चंद्र दर्शन का समय 

शुक्रवार, 2021, 11 जून

चंद्र दर्शन- 07:19 PM TO 8:12 PM

चंद्रमा को खुश करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

ऊं ऐं क्लीं श्रीं.

श्र्वेत: श्र्वेताम्बरधर: श्र्वेताश्र्व:श्र्वेतवाहन: गदापणि द्विबार्हुश्र्च कर्तव्यो: वरद: शशि: शशि, मय,

रजनीपति, स्वामी.

चंद्र, कलानिधि नमो नमामी, राकापति, हिमांशु, राकेशा. प्रणवत जन नित हरहु कलेशा.

सोम, इन्दुश, विधु, शान्ति सुधाकर. शीत रश्मि, औषधी, निशाकर.

तुम्हीं शोभित भाल महेशा. शरण-शरण जन हरहु कलेशा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें