लखनऊ के SGPGI ने 24 घंटों में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग का बनाया रिकॉर्ड

Smart News Team, Last updated: 12/09/2020 11:46 AM IST
  • कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच लखनऊ के एसजीपीजीआई अस्पताल ने 24 घंटों में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग का रिकॉर्ड बनाया है. इसने 24 घंटों में 6 हजार 241 कोरोना सैंपल्स की जांच की है. इससे थोड़ी राहत जरूर मिली है.  
लखनऊ के SGPGI ने 24 घंटों में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग का बनाया रिकॉर्ड

लखनऊ. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच लखनऊ के एसजीपीजीआई अस्पताल ने सबसे ज्यादा कोरोना के नमूने की जांच में नया रिकॉर्ड बनाया है. संजय गांधी पीजीआई ने पिछले 24 घंटों में 6 हजार 241 कोरोना सैंपल्स की जांच की है. इससे यह देश का पहला अस्पताल बन गया है जहां 24 घंटों में सबसे ज्यादा नमूने लिए गए है. यह काम डाॅक्टर और अन्य अस्पताल कर्मियों के कारण ही संभव ‌हो पाया है. 

टेस्टिंग में अहम भूमिका लैब के डाॅक्टर, तकनीशियन, सहायक और शोध के छात्रों समेत 50 कर्मचारियों ने अहम भूमिका निभाई है. पीजीआई के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ. उज्वला घोषाल का कहना है गुरुवार को करीब 3 बजे सबसे ज्यादा नमूनों की जांच का रिकॉर्ड बना. कोरोना जांच के बिना आगे इलाज मुमकिन ही नहीं है. 

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर बस ट्रक की भीषण टक्कर, ड्राइवर और हेल्पर की मौत

टेस्ट के बाद ही पता चलता है कि कोविड-19 संक्रमित कौन है और कौन नहीं?‌ इस समय जब दिनों- दिन बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं तो जितनी ज्यादा सैंपलिंग की टेस्टिंग होगी उतना ही अच्छा होगा. इस कारण यह कुछ राहत जरूर देते हैं. लखनऊ में शुक्रवार को प्रदेश में सबसे ज्याद 1,181 नए कोरोना संक्रमित मामले मिले जो कि राज्य में सबसे ज्यादा थे. अभी 9,260 सक्रिय कोरोना के मामले हैं और यह भी राज्य में सबसे ज्यादा है.

पुलिस को भी नहीं बख्शा! साइबर क्राइम फ्रॉड में चार लोगों के खातों में लगी सेंध

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को 7,103 नए पॉजिटिव केस मिले हैं. इस दौरान 1,50,652 नमूनों की जांच की गई. अभी राज्य में कुल मरीज 2,99,132 है और अभी तक कुल 2,27,442 रोगी स्वस्थ हो चुके हैं. शुक्रवार को 76 लोगों की मौत हुई जिससे अब तक कुल 4,282 लोगों की जान कोविड-19 से जा चुकी है. कोरोना के सक्रिय मामले बढ़कर 67,321 हो गए हैं. यूपी में अब तक 72,17,980 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें