चुनाव आयोग की वेबसाइट हैक कर 3 महीने में बनाए 10 हजार फर्जी वोटर आईडी कार्ड

Smart News Team, Last updated: Fri, 13th Aug 2021, 6:58 PM IST
  • यूपी के सहारनपुर से चुनाव आयोग की वेबसाइट के हैक का मामला सामने आया है, जिसमें 20 साल के युवक ने तीन महीने के अंदर दस हजार फर्जी वोटरकार्ड बना डाली. हालांकि चुनाव आयोग ने कहा है कि डेटाबेस सुरक्षित है.
मेरठ की युवा ने चुनाव आयोग  की वेबसाइट की हैक (प्रतीकात्मक फोटो)

मेरठ: उत्तर प्रदेश की सहारनपुर से चुनाव आयोग की वेबसाइट के हैक का मामला सामने आया है. एक 20 साल युवक ने चुनाव आयोग की वेबसाइट हैक कर 3 महीने के अंदर 10 हजार फर्जी वोटर आईडी कार्ड बना दी. युवक के पास से चुनाव आयोग का ऑफिसियल पासवर्ड भी मिला जिससे वो लॉगिन कर फर्जी वोटर आईडी कार्ड बनाया करता था. फिलहाल युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक युवक यूपी के सहारनपुर के नकुड़ क्षेत्र का रहने वाला है. जहां उसकी छोटी सी कंप्यूटर की दुकान है. उसने यूपी के यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन यानी बीसीए की पढ़ाई की है. उसने पुलिस के सामने यह कबूल कर लिया है कि उसने 3 महीने के अंदर 10 हजार फर्जी वोटर आईडी कार्ड बनाए हैं.

निकाह में चुगली ने मचाया जमकर बवाल, दूल्हे-दुल्हन के परिवार के बीच चले ईंट-पत्थर

गौरतलब है कि चुनाव आयोग की वेबसाइट के हैक की खबर से डेटा सुरक्षित का सवाल फिर से उठने लगा है. जिसपर चुनाव आयोग ने कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा था कि साइट के साथ कुछ गलत हो रहा है. इसीलिए उन्होंने इसकी जानकारी जांच एजेंसियों को दी.फिर जांच एजेंसी ने इस मामलें में छानबीन की तो पता चला कि विपुल सैनी नामक 20 साल का यह युवक तीन महीने से फर्ज़ी वोटर आईडी कार्ड बना रहा था. इस बीच चुनाव आयोग ने कहा है कि डाटा को सुरक्षित करने के कई उपाय किए गए हैं. साथ ही आयोग ने आश्वस्त किया कि उनका डाटाबेस पूरी तरह सुरक्षित है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें