पंचायत चुनाव की ड्यूटी कटवाने के लिए लोगों की भीड़, 300 कर्मियों ने दी एप्लीकेशन

Smart News Team, Last updated: 09/04/2021 10:59 AM IST
  • सरकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगने के बाद अब उसे कटवाने के लिए विकास भवन में लोगों की काफी भीड़ उमड़ने लगी है. अपनी चुनाव की ड्यूटी कटवाने के लिए एक दिन में करीब 300 लोगों ने एप्लीकेशन दी.
चुनावी ड्यूटी कटवाने में लगे लोग

मेरठ: पंचायत चुनाव में सरकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगने के बाद अब उसे कटवाने के लिए विकास भवन में लोगों की काफी भीड़ उमड़ने लगी है. अपनी चुनाव की ड्यूटी कटवाने के लिए एक दिन में करीब 300 लोगों ने एप्लीकेशन दी. इसमें बड़ी संख्या महिला कर्मचारियों की रही. किसी महिला ने गर्भवती होने, किसी ने बच्चा छोटा होने तो किसी ने बूढ़े सास-ससुर की देखभाल के लिया ड्यूटी कटवाने की अर्जी डाली.

बीमारी के कारण चुनावी ड्यूटी न कर पाने वाले विभिन्न विभाग के कर्मचारियों की जांच के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है. इसमें डफरिन अस्पताल की स्त्री एवं प्रसूती रोग विशेषज्ञ डा. योगिता करवल और फिजीशियन डा. अंकित कुमार को तैनात किया गया है. जांच के बाद ही ये तय किया जाएगा कि किसकी ड्यूटी काटनी है और किसकी नहीं.

मेरठ सर्राफा बाजार में तेजी के साथ खुले सोना चांदी के भाव, आज का मंडी भाव

गुरुवार को सीडीओ दफ्तर में करीब 300 लोगों ने अपनी ड्यूटी कटवाने के लिए एप्लीकेशन दी, लेकिन मेडिकल बोर्ड ने ज्यादातर कर्मचारियों के बीमारी के दावों को नकारकर उनकी एप्लीकेशन रिजेक्ट कर दी.

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे: परिवार और कारोबार, अब सबको रफ्तार, ना टूटी सड़क, ना जाम

वहीं इस मामले में सीडीओ शशांक चौधरी का कहना है कि एप्लीकेशन की जांच के बाद ही फैसला लिया जाएगा. उधर जिलाधिकारी के मुताबिक पंचायत चुनाव के लिए उम्मीदवारों की खर्च सीमा बता दी गई है. ग्राम पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी अधिकतम 10 हजार रु., ग्राम पंचायत प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी अधिकतम 75 हजार रु. खर्च कर सकते हैं. इसके अलावा जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशी 1.50 लाख रु. ही खर्च कर सकते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें