बर्खास्त होमगार्ड ने सीएम योगी से नौकरी बहाली की मांग के लिए बच्चे का किया अपहरण

Smart News Team, Last updated: Fri, 8th Jan 2021, 1:32 PM IST
  • मेरठ में एक बर्खास्त होमगार्ड ने सीएम योगी से अपनी नौकरी बहाली की मांग के लिए खरखौदा थाना क्षेत्र के जाहिदपुर गांव से आठ साल के बच्चे का अपहरण किया. पुलिस ने अपहरण के 18 घंटे के भीतर बच्चे को सकुशल को बरामद कर लिया. 
पुलिस द्वारा बरामद किए गए बच्चे की फाइल फोटो

मेरठ. मेरठ में खरखौदा थाना क्षेत्र के जाहिदपुर गांव में बर्खास्त होमगार्ड ने आठ साल के बच्चे का किडनैप कर लिया. पुलिस ने 18 घंटे के भीतर बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया और आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि आरोपी बर्खास्त होमगार्ड है. उसने किडनैप किए गए बच्चे को अपना बेटा बनाकर लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहता था, ताकि वह बच्चे की दुहाई देकर नौकरी बहाली की मांग सीएम योगी से कर सके.

पुलिस ने बताया कि आरोपी मूल रूप से गांव फफूंडा का निवासी है. वह जाहिदपुर गांव में किराये के मकान में रहता है. बुधवार की शाम उसने पड़ोस में रहने वाले बच्चे को बहला-फुसलाकर साथ ले गया. परिजनों को जब बच्चा जब नहीं मिला तो उन्होंने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी, जिसमें आरोपी बच्चे को ले जाता हुआ दिखा.

दान में मिली जमीन नीलाम कर रही गांधी आश्रम समिति, शिकायत के बाद जांच शुरू

इसके बाद तुरंत परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस तुरंत केस दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गई. एसएसपी अजय साहनी ने सर्विलांस टीम को भी लगा दिया. गुरुवार दोपहर किला परीक्षितिगढ़ थाना क्षेत्र के ऐंची गांव के पास सर्विलांस टीम ने बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया और आरोपी सोनू को गिरफ्तार कर लिया. एसएसपी अजय साहनी ने सर्विलांस टीम को 20 हजार रुपए से पुरस्कृत भी किया.

भारतीय डॉक्टरों ने लंदन में लगवाया कोरोना वैक्सीन, दोस्तों को फोन पर दी जानकारी

आरोपी सोनू ने बुधवार शाम बच्चे का अपहरण कर मेरठ सिटी रेलवे स्टेशन पहुंचा. स्टेशन से वह प्रयागराज जाने वाली संगम एक्सप्रेस ट्रेन में बैठ गया. जिस कोच में वह बैठा था, वह कोच हापुड़ में ट्रेन से अलग हो गई. इसके चलते उसे रातभर रेलवे स्टेशन पर रहना पड़ा. शुक्रवार सुबह आरोपी बस से बच्चे को लेकर मेरठ में आया. वह अपने रिश्तेदार के घर बच्चे को ले जा रहा था, इसी दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें