मेरठ के केएमसी अस्पताल प्रबंधन पर आरोप, जांच टीम ने मांगा रिकॉर्ड

Smart News Team, Last updated: Wed, 2nd Jun 2021, 2:36 PM IST
  • वीडियो में सुपरवाइज़र ने अस्पताल प्रबंधन पर मरीजों को कम ऑक्सीजन देने का दबाव बनाने और 4 गुना ज्यादा मरीजों की भर्ती करने का आरोप लगाया था. जिसके बाद सीएमओ दफ्तर में सुपरवाइज़र का बयान दर्ज किया गया है.
सुुपरवाइजर का बयान दर्ज

मेरठ: केएमसी अस्पताल के सुपरवाइजर देवेंद्र के वायरल वीडियो का मामला इस वक्त खूब सुर्खियां बटोर रहा है. इस वीडियो में सुपरवाइज़र ने अस्पताल प्रबंधन पर मरीजों को कम ऑक्सीजन देने का दबाव बनाने और 4 गुना ज्यादा मरीजों की भर्ती करने का आरोप लगाया था. जिसके बाद सीएमओ दफ्तर में सुपरवाइज़र का बयान दर्ज किया गया है.

केएमसी अस्पताल के निदेशक डॉ सुनील गुप्ता ने देवेंद्र के आरोपों को निराधार बताया. निदेशक के मुताबिक उनके अस्पताल में ज्यादा मरीजों की मौत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि साथियों से मारपीट की घटना से बचने के लिए देवेंद्र अस्पताल प्रशासन पर बेबुनियाद आरोप लगा रहा है.

मेरठ में लॉकडाउन के दौरान बंद पड़ी दुकानों में चूहों की वजह से लाखों का नुकसान

निदेशक के मुताबिक इस मामले में टीपीनगर पुलिस से शिकायत की गई है. वहीं पुलिस का कहना है कि वकील के प्रार्थना पत्र पर टीपीनगर पुलिस को जांच करने के आदेश दिए गए हैं. उधर, जिलाधिकारी के निर्देश पर केएमसी पहुंची जांच टीम ने अस्पताल प्रबंधन से अप्रैल महीने से भर्ती हुए मरीजों और ऑक्सीजन की आपूर्ति का रिकॉर्ड मांगा है. अस्पताल प्रबंधन ने जल्द रिकॉर्ड देने का आश्वासन दिया है.

लुटेरों ने बैंक कैशियर की पत्नी और बेटी को गन प्वाइंट पर रख की लाखों की लूट

आपको बता दें कि यशोदाकुंज गंगानगर के रहने वाले मनोज बंसला ने बार एसोसिएशन के महामंत्री सचिन चौधरी के नेतृत्व में एसएसपी से मुलाकात की थी. सचिन ने बताया था कि मनोज के भाई नवीन बंसला की भी केएमसी अस्पताल में मौत हुई थी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें