मेरठ में 450 के पार हुआ एक्यूआई लेवल, नगर निगम की कई टीम कंट्रोल में जुटीं

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 4:56 PM IST
  • मेरठ: कूड़ा-करकट जलाए जाने और प्रदूषण के चलते मेरठ की हवा में सांस लेना मुश्किल हो गया है. आलम यह है कि जिले का एक्यूआई लेबल 450 के पार हो गया है.
ठण्ड के साथ बढ़ रहा प्रदूषण

मेरठ: कूड़ा-करकट जलाए जाने और प्रदूषण के चलते मेरठ की हवा में सांस लेना मुश्किल हो गया है. आलम यह है कि जिले का एक्यूआई लेबल 450 के पार हो गया है. मामला बिगड़ता देख जहां नगर निगम के अधिकारियों ने जिले में कई टीमों को मुस्तैद कर दिया है. वहीं, बाहर से संसाधन जुटाकर प्रदूषण को कंट्रोल करने का काम भी जारी है. नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त बृजपाल सिंह ने बताया कि फिलहाल जिले में एक्यूआई लेबल लगभग 450 के पार हो गया है. जिससे निपटने के लिए नगर निगम द्वारा नगर निगम क्षेत्र को तीन जोन में बांटकर कर्मचारियों की कई टीमों को तैनात कर दिया गया है.

मेरठ: कोरोना के कारण महीनों से बंद गरीबों के लिए कौशल ​प्रशिक्षण फिर शुरू

यह टीमें सड़क पर रात-दिन वाटर टैंकर से छिड़काव में जुटी हैं. इसी के साथ कूड़ा जलाने वाले लोगों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जा रही है. जिसके तहत प्रदूषण फैलाने वालों से दो सौ से पांच सौ रुपये तक का जुर्माना वसूला जा रहा है. इसी के साथ प्रदूषण को कंट्रोल करने के लिए नगर निगम दो अन्य वाटर गन भी मंगा रहा है. सहायक नगर आयुक्त ने दावा किया कि नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी दिन-रात मेहनत करके प्रदूषण को हर हालत में कंट्रोल करेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें