नशे से धुत्त BJP नेता के भाई ने कार से कई लोगों को उड़ाया, पब्लिक ने पकड़ी गाड़ी

Smart News Team, Last updated: Sat, 26th Jun 2021, 9:14 PM IST
  • यूपी के मेरठ में बीजेपी युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष के भाई ने नशे में धुत्त होकर तेज रफ्तार कार से महिला समेत कई लोगों को टक्कर मार दी. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आरोप है कि पुलिस भी भाजपा नेता के भाई के पक्ष की ओर ज्यादा नजर आ रही है.
आरोपी बीजेपी युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष विमल मंडल का मौसेरा भाई है

मेरठ. शहर के टीपीनगर में कान्हा प्लाजा के पास नशे में चूर भाजपा नेता के भाई ने तेज रफ्तार कार से महिला समेत कई लोगों को टक्कर मार दी. टक्कर मारने के बाद आरोपी ने साथियों के साथ भागने की कोशिश की लेकिन मौके पर मौजूद स्थानीय लोगों ने आरोपी को पकड़ लिया. हालांकि आरोपी के दो साथी मौके से भागने में कामयाब रहे. लोगों ने आरोपी को तुरंत पुलिस को सौंप दिया. कहा जा रहा है कि पुलिस पूरे मामले में आरोपी को बचाने का प्रयास करती रही. रात साढ़े 8 बजे तक आरोपी का मेडिकल तक नहीं कराया गया. दूसरी ओर कार की टक्कर के बाद एक महिला की हालत ज्यादा गंभीर हो गई जिसे मेरठ के गणपति अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार, मेरठ के टीपीनगर के किशनपुर निवासी विमल मंडल को भाजपा युवा मोर्चा का उपाध्यक्ष बनाया गया है. विमल का मौसेरा भाई शिवम शुक्रवार शाम अपनी कार लेकर मेरठ आया था. कार में उसके साथ 2 लोग और थे. घर लौटते समय नशे में धुत शिवम ने सड़क पर कार दौड़ा दी और एक महिला जिसकी पहचान रजनी पत्नी धर्मेंद्र निवासी मलियाना और 2 अन्य लोगों को टक्कर मार दी. इसमें महिला गंभीर रूप से घायल हो गई.

मेरठ जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: BJP से गौरव चौधरी और सपा गठबंधन से सलोनी गुर्जर का नामांकन

महिला और 2 अन्य लोगों को टक्कर मारने के बाद बीजेपी नेता का भाई शिवम कार रोकोने की बजाय वहां से भागने लगा. कुछ लोगों ने खून से लतपथ महिला को अस्पताल पहुंचाया और कुछ लोगों ने कार सवार आरोपियों का पीछा शुरू कर दिया. शिवम और उसकी कार को मलियाना में जसवंत इंटर कॉलेज के पास पकड़ लिया गया. हालांकि उसके 2 साथ भागने में कामयाब रहे. लोगों ने बताया कि उसकी कार पर भाजपा युवा मोर्चा उपाध्यक्ष लिखा हुआ था.

UP चुनाव: योगी सरकार दलित वोट बैंक बनाने के लिए अंबेडर सांस्कृतिक सेंटर बनाएगी

लोगों ने आरोपी शिवम को तुरंत पुलिस के हवाले कर दिया था. हालांकि रात के साढ़े 8 बजे तक पुलिस ने आरोपी का मेडिकल नहीं कराया. पीड़ित महिला के परिवार का आरोप है कि एक भाजपा नेता के कहने पर आरोपी का मेडिकल कराने में देरी की गई. ताकि शराब पीने की पुष्टि न हो. 

मीडिया ने जब इस संबंध में टीपीनगर ताने के कार्यवाहक थाना प्रभारी प्रीतम सिंह से बात की तो उन्होंने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि एक युवक को पकड़ा गया है. मेडिकल कराने के संबंध में सवाल पूछने पर प्रीतम सिंह ने कहा कि अभी मेडिकल नहीं कराया गया. देरी की वजह पूछने पर थाना प्रभारी ने कहा कि वह अभी मेडिकल करा देंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें