मेरठ: बुआ ने ही किया बच्चे का अपहरण, पुलिस ने 20 घंटे में ढूंढा

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 2:07 PM IST
  • मेरठ पुलिस ने शुक्रवार को अपहरण किए गए बच्चे को 20 घण्टे में ढूंढ निकाला. बच्चे का अपहरण किसी और ने नहीं बल्कि उसकी बुआ ने ही किया था. जिसका पता पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर लगाया.
पुलिस ने बच्चे को किया बरामद

मेरठ. मेरठ के टीपीनगर इलाके में शुक्रवार को दस साल के बच्चे को उसी के घर के सामने से अपहरण कर लिया गया और उसकी किसी को भी भनक नहीं लगी. वहीं जब परिजनों ने बच्चे को घर के बाहर खेलते हुए नहीं पाया तो उसकी तलाश किया और पुलिस थाने में जाकर बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखवाई. जब पुलिस ने इस पूरे घटना की जांच की तो पता चला कि बच्चे को किसी और ने नहीं बल्कि उसकी बुआ ने ही अपहरण किया है.

देवलोक कॉलोनी में रहने वाले अक्षयलाल एक रिक्शा चालक है. अक्षयलाल की तीन संताने है. एक 10 वर्षीय लड़का प्रिंस तो दो लड़कियां 8 वर्षीय प्रीति और 5 वर्षीय प्रियंका. तीनो एक साथ शुक्रवार को दोपहर करीब 1:30 बजे घर के बाहर खेल रहे थे. उसी दौरान दो महिलाएं वहां पर पहुची. उन दोनों महिलाओं ने अपने आपको स्वास्थ्य विभाग की कर्मचारी बताया और कहा कि वह टीबी-खांसी का सर्वे करने आई है. जिसके बाद तीनों बच्चों से अपने साथ चलने के लिए कहा कि तुम्हारी जांच होगी. जिसके बाद दोनों बच्चीयों ने तो जाने से इनकार कर दिया लेकिन प्रिंस साथ जाने को तैयार हो गया.

मेरठ में घर से बाहर खेलने निकला बच्चा तो हुआ अपहरण, CCTV में कैद हुई वारदात

जब काफी देर बाद बच्चा वापस नहीं लौटा तो उसके परिजनों ने उसकी तलाश करना शुरू कर दिया और साथ ही पुलिस थाने जाकर बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखवाई. उसके बाद घटना स्थल पर पहुँचकर पुलिस ने जांच की. साथ वहां आस पास लजे हुए कैमरों को भी खंगाला. जिसमे एक दो महिलाएं प्रिंस को अपने साथ ले जाते हुए दिखाई दे रही है. वहीं जब इस बच्चे के पिता को दिखाया गया तो उसने पुलिस को बताया कि उनसे एक की कद काठी उसकी बच्चे की बुआ सरिता से मिलती जुलती है. साथ ही पिता ने बच्चे की बुआ पर अपहरण का शक भी जताया.

सीसीटीवी में कैद बच्चे को ले जाती बुआ सरिता

बर्खास्त होमगार्ड ने सीएम योगी से नौकरी बहाली की मांग के लिए बच्चे का किया अपहरण

जिसके बाद पुलिस ने आरोपित बुआ का घर शनिवार की सुबह ढूंढ निकाला और वहीं से बच्चे को बरामद किया, लेकिन आरोपी महिला पहले ही वहां से फरार हो चुकी थी. पॉलिसी ने बताया कि बुआ सरिता ने ही बच्चे का अपहरण किया था. उसकी कोई संतान नही है. साथ ही उन्होंने ने ये भी बताया कि बच्चे को बुआ के घर शास्त्रीनगर से बरामद किया है. जहां पर वह एक युवक के साथ लिव-इन मे रह रही थी.

शादी से मुकरने पर प्रेमी ने प्रेमिका के घर के सामने की खुदकुशी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें