फर्जी कागजों पर करोड़ों का लोन लेने के मामले में राजस्नेह के निदेशकों पर सीबीआई की बड़ी कार्रवाई

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 3rd Sep 2021, 12:29 PM IST
  • फर्जी कागजों के जरिए करोड़ों का लोन कराने का मामले में आज सीबीआई ने राजस्नेह के निदेशकों के अलग-अलग ठिकानों पर रेड की. इस दौरान स्थानीय पुलिस भी सीबीआई के साथ मौजूद रही. बता दें कि इस मामले को लेकर बैंक पहले भी राजस्नेह ग्रुप पर कार्रवाई कर चुकी है.
फर्जी कागजों पर लोन लेने के मामले में राजस्नेह के निदेशकों पर सीबीआई की कार्रवाई

मेरठ. फर्जी कागजों से बैंक से करोड़ों का लोन लेने के मामले में आज सुबह सीबीआई ने राजस्नेह ग्रुप पर बड़ी कार्रवाई की. सीबीआई की टीम ने कंपनी के सभी निदेशकों का छापेमारी की. इस दौरान टीम निदेशकों के अलग-अलग ठिकानों पर एक साथ छापेमारी कर कागजों की तलाश कर रही है. इस दौरान सीबीआई के साथ भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा.

किसी के घर में तो किसी की मिल में पड़ी रेड

सीबीआई ने तड़के सुबह छापेमारी की. इससे निदेशकों के घर के साथ आस-पास के इलाके में भी लोगों में हड़कंप मच गया. टीम ने राजस्नेह के निदेशक अशोक जैन के आवास सूर्य प्लेस, मनोज गुप्ता के आवास सदर बाजार, अशोक जैन के पुराने आवास प्रेमपुरी और अनिल जैन के वर्धमान फ्लोर मिल में रेड की. इस दौरान स्थानीय पुलिस ने किसी के अंदर और बाहर जाने पर रोक लगा दी है. वहीं, सीबीआई की टीम कागजात की तलाश क रही है.

मेरठ: हुड़दंग मचाने पर दारोगा ने कर दी बीजेपी नेता के बेटों की पिटाई, कार्रवाई की उठी मांग

सीबीआई ने रेड से पहले आसपास के एरिया को किया सील

सीबीआई ने निदेशकों के यहां छापेमारी से पहले आसपास के एरिया को सील कर दिया है. साथ ही पूरी सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात है. अभी रेड के बाद निदेशकों से बात करने के बाद ही सीबीआई अफसर बाहर आएंगे. जिसके बाद रेड में आगे की कोई जानकारी मिल सकेगी. बता दें कि इससे पहले भी अपनी रकम वसूलने के लिए बैंक ग्रुप के निदेशकों पर कार्रवाई कर चुकी है.

CCSU Admission 2021: चौ. चरण सिंह यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू

कई कार कंपनियों के थे डीलर

बता दें कि राजस्नेह ग्रुप कई कार कंपनियों का डीलर रह चुका है. इस दौरान ग्रुप ने फर्जी कागजों के सहारे करोड़ों का लोन करवाया था. जानकारी अनुसार, सीबीआई रेड में सभी निदेशकों से कागजों को लेकर पूछताछ कर रही है. इस दौरान सभी के फोन भी जब्त कर लिए गए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें