मेरठ:18 अक्तूबर से होंगी चौ.चरण सिंह विवि कैंपस और कॉलेजों में प्रवेश परीक्षाएं

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Sep 2020, 12:18 PM IST
एलएलएम एवं एमएड कोर्स में प्रवेश के लिए प्रवेश  परीक्षा की घोषणा हो चुकी है. वर्ष 2020-21के लिए एमफिल के कोर्स को बंद कर दिया गया है. बीपीएड-एमपीएड के प्रवेश के लिए फिटनेस टेस्ट का आयोजन किया जाएगा. छात्रों को विवि की वेबसाइट के संपर्क में रहने का निर्देश दिए गए हैं.
चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय,मेरठ (फाइल फोटो)

मेरठ. चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय कैंपस और संबंद्ध कॉलेजों में एलएलएम एवं एमएड कोर्स में प्रवेश के लिए प्रवेश  परीक्षा की घोषणा हो चुकी है जो की अब 18 अक्तूबर को होगा. इस परीक्षा को दो पालियों में किया जाएगा. पहली पाली सुबह 10 से 12 और दूसरी पाली शाम 2 से 5 में होगी. साथ ही एमफिल में प्रवेश लेने वालों के लिए सूचना है की इस वर्ष विवि कैंपस में एमफिल के लिए प्रवेश परीक्षा नहीं होगी . वर्ष 2020-21के लिए एमफिल के कोर्स को बंद कर दिया गया है. इस वर्ष बीपीएड-एमपीएड के लिए फिटनेस टेस्ट की किया जाएगा उसी के आधार पर चयन होगा.

चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय के डीन ऑफ स्टूडेंट वेल्फेयर प्रो.भूपेंद्र सिंह ने यह जानकारी दी है कि एलएलएम कि परीक्षा के सुबह 10 से 12 बजे तक जबकि एमएड कोर्स के लिए परीक्षा का समय 2 से 5 बजे तक होगा. एमएड में परीक्षा देने वाले छात्र-छात्राओ की संख्या 2584 एलएलएम में यह संख्या 2143 होगी. उन्होंने ये भी बताया की ऐसा पहली बार है जब  कैंपस और कॉलेजों में एमएड के लिए प्रवेश परीक्षा एकसाथ  हो रही है. इससे पहले यह परीक्षाएं अलग-अलग समय पर होती थी. 

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे: मुआवजे के लिए किसानों ने दिया 4 दिन का अल्टीमेटम

बीपीएड-एमपीएड के प्रवेश के लिए फिटनेस टेस्ट का आयोजन किया जाएगा. बीपीएड-एमपीएड में छात्रों प्रवेश के लिए आवेदन पहले ही हो चुके हैं. छात्रों को विवि की वेबसाइट के संपर्क में रहने का निर्देश दिए गए हैं. विश्वविद्यालय प्रशासन जल्द ही परीक्षा केंद्र को तय कर देगा साथ ही निर्देश जारी करे देगा. छात्रों के प्रवेश पत्र 10 अक्तूबर तक विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.ccsuniversity.ac.in पर अपलोड कर देने की योजना तैयार कर ली है. एमफिल में आवेदन करने वाले छात्र-छात्राओं को उनकी फीस वापिस कर दी जाएगी. इसकी घोषणा विश्वविद्यालय जल्द ही कर देगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें