मेरठ: गंभीर संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराएगा क्लॉथ बैंक

Smart News Team, Last updated: Thu, 13th May 2021, 2:12 PM IST
मेरठ शहर में संक्रमित मरीज को तत्काल रुप से ऑक्सीजन सिलेंडर देने के लिए क्लॉथ बैंक ने एक ऑक्सीजन बैंक बनाया है. जहां आप ऑक्सीजन की खाली सिलेंडर ले जाकर तुरंत भरी हुई ऑक्सीजन सिलेंडर ले सकते हैं. ऑक्सीजन वितरण का काम मेरठ प्रशासन के द्वारा ऑक्सीजन वितरण केंद्र पर किया जाता है.
मेरठ में जरूरतमंदों को ऑक्सीजन की सप्लाई करता क्लॉथ बैंक. (फाइल फोटो)

मेरठ : मेरठ शहर के गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन की सहायता देने के लिए शहर में क्लॉथ बैंक ने  31 रिफिल ऑक्सीजन बैंक बनाया गया है. इस बैंक में ऑक्सीजन सिलेंडर की क्षमता को 200 तक करने का लक्ष्य रखा गया है. जिस पर क्लॉथ टीम काम कर रही है. क्लॉथ बैंक की टीम आज 31ऑक्सीजन सिलेंडर को नगर आयुक्त मनीष बंसल और अपर नगर आयुक्त बृजपाल सिंह को नवभारत विद्यापीठ इंटर कॉलेज में सौंप देगी.

इस अनूठे ऑक्सीजन बैंक को शुरू करने वाले अमित अग्रवाल, राम ऋषि सिंघल, अंकुर मूना, राजकुमार कैंसल, धीरज कुमार, दीपक राठी, कमल ठाकुर शामिल है. उन्होंने बताया कि शहर के संक्रमित लोग जिनका ऑक्सीजन लेवल बहुत कम हो गया है. उनको ये क्लॉथ बैंक जरूरी पड़ताल करके. मरीज के परिजन से खाली सिलेंडर को लेकर बैंक में रख पहले से रिफिल हो कर रखे हुए ऑक्सीजन सिलेंडर को दे दिया जाएगा. जिससे गंभीर रूप से संक्रमित मरीज की जान बचाई जा सकती है.

मेरठ: संक्रमित मरीज मरने के 15 दिन बाद सूचना देने मामले में छह लोगों पर कार्रवाई

क्लॉथ बैंक शहर के कई लोगों ने अपने खाली सिलेंडर दिए हैं ताकि जो गंभीर रूप से संक्रमित मरीज सांस नहीं ले पा रहा है उसकी सहायता क्लॉथ बैंक कर सकें. क्लॉथ बैंक ने कहा है कि जिन लोगों ने भी अपने खाली सिलेंडर लोगों की सहायता के लिए दिए हैं जरूरत पड़ने पर उनको ऑक्सीजन से भरा सिलेंडर वापस कर दिया जाएगा. क्लॉथ बैंक की टीम को खाली सिलेंडर देने के लिए आप,  अमित कुमार अग्रवाल के फोन नंबर 9837056704 पर फोन कर सकते हैं या फिर नीरज कांत मिश्रा के मोबाइल नंबर 7500104445 पर फोन कर सकते हैं.

यूपी: 18 से 44 वर्ष के लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन के नहीं दिखाना होगा आधार कार्ड

मेरठ कमिश्नर का आदेश- 600 की जगह 400 रुपए में भरा जाए ऑक्सीजन सिलेंडर

कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक, डिटेल में पढ़ें कैसे करें बचाव

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें