आलोक प्रसाद की रिहाई की मांग, कांग्रेस का कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 02:13 PM IST
  • प्रदेश विधानसभा के आगे आत्मदाह करने वाली महिला को उकसाने के आरोप में गिरफ्तार हुए कांग्रेस नेता आलोक प्रसाद की गिरफ्तारी के विरोध में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ. कार्यकर्ताओं ने मेरठ कलेक्ट्रेट में बवाल कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंप आलोक प्रसाद की रिहाई की मांग की.
कांग्रेस नेता आलोक प्रसाद की गिरफ्तारी का विरोध करते पार्टी कार्यकर्ता

मेरठ: बीते रात कांग्रेस नेता आलोक प्रसाद पासी की गिरफ्तारी के विरोध में आज पार्टी कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट ऑफिस पर प्रदर्शन कर  अपने नेता की रिहाई की मांग की. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा.

गौरतलब है कि विधान भवन के आगे महाराजगंज की रहने वाली महिला ने आत्मदाह कर लिया था. जिसमें बाद में उसकी मौत भी हो गई. इस मामले में लखनऊ पुलिस ने देश कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के चैयरमैन और पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद के बेटे आलोक प्रसाद पासी को गिरफ्तार कर लिया था. शुक्रवार को कांग्रेसी कमिश्नरी पार्क में इकट्ठा हुए. उसके बाद वहां से नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे. जिसके बाद कांग्रेसियों ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया. इसमें प्रकी गिरफ्तारी का विरोध किया गया. साथ ही उनकी रिहाई की मांग की गई.

कमिश्नरी पार्क में आलोक प्रसाद की रिहाई की मांग के लिए जुटे कांग्रेसी

विधानसभा के बाहर झुलसी महिला की मौत, उकसाने के आरोप में कांग्रेस नेता अरेस्ट

इस दौरान प्रदर्शकारियों ने जमकर नारेबाजी की. उनका आरोप लगाया कि आलोक प्रसाद पासी को रात में दो बजे पुलिस ने गैरकानूनी तरीके से गिरफ्तार किया. बता दें कि लखनऊ पुलिस ने महाराजगंज पुलिस के इनपुट पर आलोक को हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस सूत्रों की मानना है कि घटनास्थल पर आलोक की लोकेशन मिल रही थी. 

लखनऊ: विधानसभा के सामने खुद को आग लगाने वाली महिला की अस्पताल में मौत

ये भी कहा जा रहा है कि आलोक महिला के संपर्क में भी था. गौरतलब है कि हजरतगंज स्थित विधान भवन के सामने आग लगाने से पहले महिला ने इंस्पेक्टर हजरतगंज अंजनी कुमार पांडेय से घटना के 15 मिनट पहले संपर्क किया था. इंस्पेक्टर ने पुलिस फोर्स को तुरंत अलर्ट कर दिया था. लेकिन फिर भी पुलिस ने लापरवाही की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें