मेरठ: NSG कमांडो बनकर फेसबुक के जरिए मैनेजर से 72 हजार रुपये की ठगी

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 09:48 AM IST
मेरठ के मैनेजर से 72 हजार रुपये की ऑनलाइन ठगी हो गयी। यह ठगी एक विनित नाम के आदमी ने एनएसजी कमांडो बनकर की है. इसकी शिकायत पीड़ित ने नौचंदी थाने और साइबर सेल को कर दी है. पुलिस और प्रशासन का कहना कि ठगी से बचने के लिए लोगों को खासकर कोरोना काल में ज्यादा जागरूक होने की जरूरत है.
प्रतीकातम्क फोटो

मेरठ. मेरठ के मैनेजर से 72 हजार रुपये की ठगी हो गयी. इस बार यह ऑनलाइन ठगी एनएसजी कमांडो बन कर की गयी है. पीड़ित आकाश वर्मा नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर का  रहने वाला है और वो एक कंपनी में मैनेजर हैं. उसने इस ठगी की शिकायत नौचंदी थाने और साइबर सेल को करते हुए बताया कि उसको स्कूटी खरीदनी थी. इसकी जानकारी उसे फेसबुक मार्केट प्लेस पर हुई थी.

स्कूटी मालिक से बातचीत हुई तो उसने अपना नाम विनीत यादव और खुद को मानेसर में तैनात एनएसजी कमांडो बताया. इस दौरान आकाश ने उससे वीडियो काॅल पर बात की तो मुझे उस पर पूरा विश्वास हो गया. इसके बाद मैंने विनीत के बैंक अकाउंट में 15 से 20 हजार रुपये ट्रांजक्शन करते हुए कुल 72 हजार रुपये भेज दिए. पैसे भेजने के चार दिन बाद भी स्कूटी से जुड़ा कोई अपडेट नहीं मिला तो आकाश ने फोन किया पर उसने अपना‌ मोबाइल नंबर बंद कर दिया है. 

कारोबारियों का ऐलान, सोमवार को प्रदेश भर में बंद के दौरान भी खुलेंगी मेरठ मंडी

ऑनलाइन ठगी करने वाले अब नए‌ तरीके अपना रहे हैं. ओएलएक्स पर फोजी बनकर‌ ठगी के मामले बढ़ रहे थे.अब फेसबुक मार्केट प्लेस से भी ठग ने कमांडो बनकर मैनेजर को चूना लगा दिया. अब दूसरी ऑनलाइन वेबसाइटों पर भी लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है. इसको लेकर अब पुलिस और साइबर विभाग लोगों को जागरूक कर रहा है.

स्कूल-कॉलेजों के पास गांजा-चरस सप्लाई करने वाले 4 अरेस्ट, 232 किलो माल बरामद

कोरोना काल में साइबर अपराध दिनों-दिन बढ़ रहे हैं. खासकर ऑनलाइन ठगी  क्योंकि शापिंग से लेकर मोबाइल तक वेबसाइटों से खरीदे जा रहे है. इसलिए इस दौरान ठगी से बचने के लिए सबको जागरूक होना होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें