मेरठ: दुष्कर्म पीड़िता का कमरे में लटका मिला शव, पुलिस पर लगाया था आरोप

Smart News Team, Last updated: Mon, 11th Jan 2021, 1:53 PM IST
  • मेरठ में दुष्कर्म पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई ना होने पर आखिरकार खुद की जिंदगी खत्म कर ली. महिला का शव रविवार सुबह फंदे से लटका मिला. बता दें, महिला पिछले दो महीने से नौचंदी क्षेत्र में किराये पर रह रही थी.
दुष्कर्म पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई ना होने पर आखिरकार खुद की जिंदगी खत्म कर ली

मेरठ:मेरठ में दुष्कर्म पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई ना होने पर आखिरकार खुद की जिंदगी खत्म कर ली. महिला का शव रविवार सुबह फंदे से लटका मिला. बता दें, महिला पिछले दो महीने से नौचंदी क्षेत्र में किराये पर रह रही थी. मकान मालिक और स्वजन ने कमरे का दरवाजा तोड़कर महिला का शव उतारा. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.खबरें आ रही हैं कि महिला का तीन साल पहले तलाक हो गया था.

दरअसल, सिविल लाइन थाना क्षेत्र निवासी युवती ने करीब आठ साल पहले मोदीनगर निवासी युवक से प्रेम विवाह किया था. विवाद के चलते तीन साल पहले तलाक हो गया था. वहीं रविवार को मकान मालकिन बिजली का बिल लेने के लिए तीसरी मंजिल पर गई थी, लेकिन महिला ने कमरा नहीं खोला. कुछ देर बाद महिला की बहन भी पहुंच गई. पुलिस के अनुसार जांच में पता चला कि महिला गत वर्ष मेडिकल क्षेत्र में किराये पर रहती थी. इस दौरान उसने एक युवक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. कोर्ट के आदेश पर थाने में रिपोर्ट दर्ज हो गई थी. इस मामले की जांच सीओ सिविल लाइन कर रहे थे. वहीं, सीओ सिविल लाइन देवेश कुमार ने बताया कि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. मामले की जांच की जा रही है. इस मामले में मकान मालिक और पड़ोसियों ने बताया कि महिला छत पर घूमते हुए या फिर कपड़े सुखाते हुए दिखाई दे जाती थी, लेकिन तीन-चार दिन से दिखाई नहीं दे रही थी. मृतका की बहन ने बताया कि वह भी दो-तीन दिन से फोन कर रही थी, उसका भी जवाब नहीं आ रहा था. रात भी फोन किया था, इसलिए सुबह मिलने आ गई.

पेट्रोल डीजल आज 11 जनवरी का रेट: लखनऊ, वाराणसी, कानपुर, मेरठ में नहीं बढ़े दाम

बता दें, युवती तीन महीने पहले एक मामले में पुलिस पर खुद की पिटाई का आरोप भी ला चुकी है. जिसके बाद मामले में हंगामा भी हुआ था. हालांकि इस बारे में अधिकारी से जानकारी करने पर यह मामला गलत बताया गया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें