मेरठ एक्सप्रेसवे : 31 दिसंबर तक कैसे पूरा होगा काम, दिल्ली में बनेगी रणनीति

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 11:13 PM IST
  • केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने तीन दिन पहले ट्वीट कर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम इस साल के 31 दिसंबर तक पूरी हो जाने की जानकारी दी थी. इसके बाद ही NHAI ने परियोजना की समीक्षा के लिए तीन सितंबर को बैठक बुलाई है.
फाइल फोटो

मेरठ. मेरठ एक्सप्रेसवे को लेकर NHAI कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद काम की गति बढ़ाने पर फोकस कर रहा है. इसके लिए तीन सितंबर को NHAI के दिल्ली मुख्यालय में महत्वपूर्ण बैठक भी होने वाली है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना और बारिश के बावजूद कैसे काम ना प्रभावित हो इसे लेकर रणनीति बनाई जाएगी. बता दें कि मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम 31 दिसंबर तक पूरा किया जाना प्रस्तावित है. इसकी जानकारी केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने तीन दिन पहले ट्वीट कर दी थी. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम 31 दिसंबर तक पूरा हो जाएगा और नए साल से वाहन चलने लगेंगे. केंद्रीय मंत्री ने एक्सप्रेस-वे की एक वीडियो भी जारी किया था.

मेरठ से किडनैप महिला का हरियाणा के ईंट भट्टे पर बंधक बनाकर गैंगरेप, केस दर्ज

इस तरह केंद्रीय मंत्री के ट्वीट के बाद से ही NHAI के आला अधिकारी निर्माण कार्य की गति बढ़ाने पर फोकस करने लगे हैं. बता दें कि इस समय एक्सप्रेस-वे के दो खंडों पर काम चल रहा है. दूसरे खंड में 84 फीसदी और चौथे खंड में 74 फीसदी काम पूरा हो गया. साल 2020 के बचे चार महीने के अंदर बाकि काम पूरा होना है. लेकिन असल में अभी कई जगह काम धीमी गति से हो रहा है. इसी को देखते हुए दिल्ली NHAI मुख्यालय पर तीन सितंबर को महत्वपूर्ण बैठक बुलाई गई है. बताया जा रहा है कि इसमें परियोजना की समीक्षा होगी.

मेरठ में फेक फेसबुक आईडी बनाकर ठगने वाले गैंग का बिल्डर बना शिकार!

NHAI के परियोजना अधिकारी अरविन्द कुमार ने बताया कि बैठक में अधिकारियों के अलावा निर्माण करने वाली कंपनी के अधिकारी भी मौजूद होंगे. इस बैठक में यह रणनीति बनाई जाएगी कि कोरोना और बारिश के बीच काम की गति कैसे बढ़ाया जाए. कैसे बड़े कामों पर ज्यादा ध्यान दिया जाए. किस प्वाइंट पर मशीनों और मजदूरों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए. इसके अलावा इस बैठक में किसानों की समस्या और उसके समाधान पर भी चर्चा होगी. परियोजना अधिकारी ने बताया कि महरौली साइट पर काम शुरू कराने के लिए बुधवार को एसडीएम इस साइट का दौरा करेंगे. इस दौरान किसानों से बात कर यह बताया जाएगा कि उनकी जमीन का रिकॉर्ड खोजा जा रहा है. उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे जनहित से जुड़ा काम है और इसे बंद नहीं किया जा सकता है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें