मेरठ में बिजली इंजीनियर भूख हड़ताल पर बैठे, इन मांगों को लेकर सामूहिक उपवास

Smart News Team, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 9:16 PM IST
  • मेरठ में बिजली विभाग के इंजीनियर भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं. कई महत्वपूर्ण मांगे पूरी ना होने के कारण सोमवार से राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन 24 घंटा के के सामूहिक उपवास पर बैठे हैं. अप पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन और सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करेगी तो वह राज्य स्तर पर आंदोलन को अगला कदम उठाएंगे. 
मेरठ में मुख्य अभियंता दफ्तर पर सामूहिक उपवास पर बैठे बिजली इंजीनियर

मेरठ. बिजली इंजीनियर विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार की सुबह राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनिरय संगठन बैनर के तले 24 घंटे के लिए सामूहिक उपवास पर बैठे. जूनियर इंजीनियरों का यह उपवास कल सुबह यानी मंगलवार को खत्म होगा. वहीं अपर अभियंता का कहना है कि अगर जल्द ही सरकार उनकी मांगों को पूरी नहीं करेगी तो वह राज्य स्तर पर आंदोलन करेंगे. जिला भर के जूनियर इंजीनियर एकत्रित होकर मुख्य अभियंता मेरठ जोन के दफ्तर पहुंचे थे. संगठन के जनपद अध्यक्ष मुकेश यादव और जनपद सचिव आशुतोष के नेतृत्व में सभी जूनियर इंजीनियरों ने वेतन, पदोन्नति और विभिन्न मांगों को लेकर उपवास शुरू कर दिया.

प्रबंधक पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि ना तो उनकी वेतन बढ़ाई जा रही है और ना ही विभिन्न मांगों को पूर्ति हो रही है. बिजली आपूर्ति को दुरुस्त रखने के लिए आवश्यक उपकरण भी मुहैया नहीं कराए जा रहे हैं. संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि सहायक अभियंता और जूनियर इंजीनियरों की मांगों पर जल्द निर्णय नहीं लिया गया तो संगठन द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जाएगा. संगठन के जनपद अध्यक्ष मुकेश यादव और जनपद सचिव आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में  आंदोलन आह्वान हुआ. 

PM किसान स्कीम के तहत मिलेंगे चार हजार, लाभ उठाने के लिए ऐसे करें आवेदन

संगठन के जिला अध्यक्ष ने कहा कि यह आंदोलन सुबह 11 बजे से शुरू हुआ है और कल सुबह तक जारी रहेगा. विभाग के उच्च अधिकारियों के प्रति काफी आक्रोश है . संगठन के जिला अध्यक्ष ने कहा कि यदि अप पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन और सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करेगी तो वह राज्य स्तर पर आंदोलन को अगला कदम उठाया जाएगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें